M.A Hindi 2nd Year Important Questions 2023

Through this post, you will get the questions of m.a Hindi 2nd year important questions for the session 2023. 

These m.a 2nd year Hindi important questions have been prepared to keep in mind the upcoming exam.

These questions have been compiled on the basis of the questions asked in past examination papers.

These questions have appeared many times in the exam and are possible questions for the upcoming exams.

Before preparing answers to these Hindi question paper questions, read the relevant chapter of the textbook completely. 

After that understand the concept and meaning of the lesson. 

Now write these questions in your notebook and write their answers in your own words. 

With this process, you will be able to easily remember the answers to these questions, and will also save you time. 

If there is any difficulty in preparing the answer to any of these questions, then clear your concept by meeting your teacher. 

Prepare your answer with their help.

These are also the best set of Hindi important questions for competitive exams preparing students.

Another tip for the preparation for the examination is to try to solve the "previous year Hindi question paper". 

M.A Hindi 2nd year question paper for university exam is available in the market.

You can use that for regular practice.

M.A Hindi 2nd Year Question Paper - एमए द्वितीय वर्ष हिंदी प्रश्न बैंक

भारतेन्दु एवं द्विवेदी युग प्रश्न - Bhartendu Yug Dwivedi Yug

  • 'भारतेन्दु मंडल' से आप क्‍या समझते हैं? भारतेन्दु मंडल के कवियों का संक्षिप्त परिचय दीजिए।
  • भारतेन्दु युगीन उपन्यासों की विविध प्रवृत्तियों का परिचय दीजिए।
  • कहानीकार राजा शिवप्रसाद सितारे हिन्द का परिचय दीजिए।
  • बदरीनारायण चौधरी 'प्रेमथधन" की काव्यगत विशेषताओं का विवेचन कीजिए।
  • आलोचक बालकृष्ण भट्ट का परिचय दीजिए।
  • द्विवेदी युगीन काव्य की प्रमुख प्रवृत्तियों का परिचय दीजिए।
  • उपन्यासकार देवकीनन्दन खत्री की उपन्यास कला पर प्रकाश डालिए।
  • द्विवेदीयुगीन किन्हीं चार कहानीकारों का परिचय दीजिए ।
  • टिप्पणी लिखिए- (क) सरस्वती (पत्रिका) (ख) मिश्र बन्धु (ग) बाबू श्यामसुन्दर दास (घ) कहानीकार सुदर्शन
  • भारतेन्दु युगीन नाटक की प्रवृत्तियों पर प्रकाश डालिए।
  • भारतेन्दु की निबंध कला पर प्रकाश डालिए।
  • "द्विवेदी युगीन काव्य आदर्शवादी और नीति परक है' इस कथन का तर्क॑पूर्ण उत्तर दीजिए।
  • द्विवेदी युगीन कहानी साहित्य की प्रमुख विशेषताओं पर प्रकाश डालिए।
  • जयशंकर प्रसाद के ऐतिहासिक नाटकों का संक्षिप्त परिचय दीजिए।
  • सरदार पूर्ण सिंह की निबन्ध-कला पर प्रकाश डालिए।
  • द्विवेदी युगीन पत्र-पत्रिकाओं का परिचय दीजिए।

आधुनिक काल छायावाद से प्रगतिवाद तक के प्रश्न - Aadhunik Kaal Chhayavad Se Pragativad

  • छायावादी काव्य की समान्य विशेषताओं का उल्लेख करते हुए निराला का साहित्यिक परिचय दीजिए।
  • छायावाद की परिभाषा देते हुए छायावाद युग के सीमांकन और नामकरण पर प्रकाश डालिए।
  • उत्तर छायावाद में राष्ट्रीय सांस्कृतिक कविता की भूमिका पर विचार कीजिए।
  • प्रसादोत्तर हिन्दी नाट्य साहित्य पर प्रकाश डालिए।
  • जयशंकर प्रसाद की नाट्यकला पर प्रकाश डालिए।
  • उपन्यासकार यशपाल के उपन्यासों की विशेषताओं का उल्लेख कीजिए।
  • हिन्दी कहानी साहित्य में जैनेन्द्र एवं अज्ञेय के अवदान पर प्रकाश डालिए।
  • शिवपूजन सहाय की निबन्ध-कला का विवेचन कीजिए।
  • हिन्दी संस्मरण साहित्य पर एक लेख लिखिए ।
  • प्रगतिवाद क्‍या है? प्रगतिवादी काव्य की प्रमुख प्रवृत्तियों पर प्रकाश डालिए।
  • उपेन्द्रनाथ अश्क तथा जगदीशचन्द्र माथुर के नाटकों की विशेषताओं का उल्लेख कीजिए।
  • प्रेमचन्दोत्तर किन्‍्हीं दो उपन्यकारों की उपन्यास कला पर प्रकाश डालिए।
  • जयशंकर प्रसाद की कहानियों की विशेषताएँ बताइए।
  • हजारी प्रसाद द्विवेदी के ललित निबंधों की विशेषताओं का उद्घाटन कीजिए।
  • आचार्य रामचन्द्र शुक्ल की आलोचनात्मक दृष्टि का उल्लेख कीजिए।
  • निम्नलिखित पर टिप्पणी लिखिए - (क) रेखाचित्र (ख) यात्रा वृतांत (ग) रिपोर्ताज (घ) आत्मकथा

प्रयोगवाद और समकालीन साहित्य के प्रश्न - Prayogwad Aur Samkalin Sahitya

  • प्रयोगवाद की प्रमुख प्रवृत्तियों का उल्लेख कीजिए।
  • नई कविता के प्रमुख कवियों का परिचय दीजिए।
  • नवगीत पर एक लेख लिखिए।
  • प्रपद्यवाद के प्रमुख कवियों का परिचय दीजिए।
  • प्रयोगवाद के उद्भव की परिस्थितियों पर प्रकाश डालिए।
  • नई कविता की प्रवृत्तियों का उल्लेख कीजिए।
  • प्रपद्यवाद वाद पर एक लेख लिखिए।
  • मोहन राकेश की नाट्य कला पर प्रकाश डालिए।
  • हिन्दी कहानी के विकास में महिला कथाकारों के योगदान पर विचार कीजिए।
  • साठोत्तरी हिन्दी उपन्यास साहित्य में स्त्री-विमर्श पर विचार कीजिए।
  • "आत्मकथा" साहित्य के उद्भव एवं विकास पर प्रकाश डालिए।
  • टिप्पणी लिखिए- (क) जय शंकर प्रसाद (ख) अज्ञेय (ग) मार्क्सवाद (घ) तार सप्तक
  • प्रसादोत्तर हिन्दी नाट्य साहित्य के विकास पर प्रकाश डालिए।
  • स्वातंत्र्योत्तर हिन्दी उपन्यास की विशेषताओं का उल्लेख कीजिए।
  • नई कहानी आन्दोलन पर प्रकाश डालिए।
  • हिन्दी निबन्ध के क्षेत्र में व्यंग्यकारों के योगदान पर प्रकाश डालिए।
  • शुक्लोत्तर हिन्दी आलोचना के विकास पर प्रकाश डालिए।
  • टिप्पणी लिखिए - (क) कृष्णा सोबती (ख) मोहन राकेश

नाटक और रंगमंच के प्रश्न - Natak Aur Rangmanch

  • नाटक के तत्त्वों पर प्रकाश डालिए।
  • 'चन्द्रावली' के रचना विधान पर प्रकाश डालिए।
  • अभिनेता और रंगमंच की दृष्टि से 'चन्द्रावली' नाटिका की समीक्षा कीजिए।
  • रस-योजना की दृष्टि से चन्द्रावली नाटिका पर प्रकाश डालिए।
  • नाटककार मोहन राकेश का परिचय दीजिए।
  • चरित्र चित्रण कीजिए- (क) चन्द्रावली (ख) स्कदगुप्त (ग) कालिदास
  • "स्कन्दगुप्त" नाटक के वस्तु-विन्यास पर प्रकाश डालिए।
  • स्कन्दगुप्त नाटक की गीत योजना पर प्रकाश डालिए।
  • देवसेना का चरित्र-चित्रण कीजिए।
  • आषाढ़ का एक दिन' नाटक की भाषा पर प्रकाश डालिए।
  • "ऐतिहासिक आधार ग्रहण करते हुए भी आषाढ़ का एक दिन' में नवीन समस्याओं की अभिव्यक्ति है"। स्पष्ट कीजिए।
  • विलोम का चरित्र-चित्रण कीजिए।
  • बकरी नाटक की पात्र-योजना और संवाद-योजना पर प्रकाश डालिए। 

आधुनिक कथा साहित्य के प्रश्न - Adhunik Hindi Katha Sahitya

  • राग दरबारी के वस्तु-विन्यास पर प्रकाश डालिए।
  • वैद्यजी का चरित्र-चित्रण कीजिए।
  • 'हाभोज' में प्रस्तुत व्यंग्य का औचित्य स्पष्ट कीजिए।
  • बिंदा का चरित्र चित्रण कीजिए ।
  • 'नीला चाँद' अमोघ इच्छा शक्ति का नाम है। उपन्यास के आधार पर स्पष्ट कीजिए।
  • कहानी कला की दृष्टि से 'वाफसी' कहानी की समीक्षा कीजिए।
  • रजुआ का चरित्र चित्रण कीजिए ।
  • 'महाभोज' नाटक के शीर्षक की सार्थकता लिखिए और उसकी भाषा शैली पर प्रकाश डालिए।
  • कीरत का चरित्र-चित्रण कीजिए।
  • कहानी-कला की दृष्टि से "जहाँ लक्ष्मी कैद है" कहानी की समीक्षा कीजिए।
  • "गजाधर बाबू की पीड़ा व्यापक सामाजिक सत्य का अंग है", इस कथन की समीक्षा कीजिए।
  • 'ये बीमार लोग' कहानी के पात्रों का परिचय दीजिए।
  • 'गुलकी बन्नो' कहानी के उद्देश्य पर प्रकाश डालिए।
  • सप्रसंग व्याख्या कीजिए - (क) चूँकि वह मरना न चहता था, इसलिए जोंक की तरह जिन्दगी से चिमटा रहा। (ख) जी हाँ, उसी की बदौलत तो यह सारा खेल है, वही तो इस भंडारे की चाबी है। (ग) पर कभी उसने जबान लड़ाई तो खैर नही| हमारा हाथ बड़ा जालिम है । (घ) अरे नरेन्द्र, बाबूजी की चारपाई कमरे से निकाल दे। उसमें चलने तक की जगह नहीं।

निबन्ध तथा अन्य गद्य विधाए के प्रश्न - Nibandh Tatha Gadya Vidhaya

  • ललित निबन्ध की प्रवृत्तियों पर प्रकाश डालिए।
  • कुबेरनाथ राय के ललित निबन्धों की विशेषता का उल्लेख कीजिए।
  • ललित निबन्ध के कथ्य एवं शिल्प के विविध आयामों पर प्रकाश डालिए।
  • गद्य काव्य की विशेषताओं का विवेचन कीजिए।
  • निबन्ध कला की दृष्टि से निर्वासन और 'नीलकंठ प्रिया' की समीक्षा कीजिए।
  • गद्य काव्य से आप क्‍या समझते हैं? गद्यकाव्य की परम्परा पर प्रकाश डालिए।
  • गद्यकाव्यकार के रूप में रामकृष्ण दास का परिचय दीजिए ।
  • 'उनमन' तथा "न्तर्नाद" गद्यकाव्यों की समीक्षा कीजिए।
  • 'जंजीरे और दीवारें' की समीक्षा कीजिए।
  • 'रेल की पटरियाँ' तथा 'दूब और बरगद'की समीक्षा कीजिए।
  • दिनेश नंदिनी डालमिया के पठित गद्य काव्यों की विशेषता बताइए।
  • "चिंता' तथा साधना" गद्यकाव्यों की समीक्षा कीजिए।
  • यात्रा वृतान्त की रचना के मूल तत्त्वों पर प्रकाश डालिए।
  • मक्खन पनीर का देश' की समीक्षा कीजिए।
  • रेखाचित्र और संस्मरण में अन्तर स्पष्ट कीजिए।
  • हिन्दी लघु कथा की परम्परा और प्रवृत्तियों पर प्रकाश डालिए।

पाश्चात्य आलोचना और शैली विज्ञान के प्रश्न - Paashchaaty Alochana Aur Shaili Vigyan

  • प्लेटो के काव्य और कवि सम्बंधी विचारों की समीक्षा कीजिए।
  • अरस्तू के महाकाव्य सम्बंधी विचारों का विवेचन कीजिए।
  • काव्य में उदात्त तत्त्व के पोषक एवं विरोधी तत्त्वों को रेखांकित कीजिए।
  • प्लेटो के अनुकरण सिद्धान्त की समीक्षा कीजिए।
  • अरस्तू के विरेचन-सिद्धान्त पर प्रकाश डालिए।
  • 'लोंजाइनस के उदात्त' सम्बन्धी विचारों की समीक्षा कीजिए।
  • होरेस के काव्य सम्बन्धी मतों का उल्लेख कीजिए।
  • परम्परा और वैयक्तिक प्रज्ञा के संदर्भ में परम्परा बोध का अर्थ स्पष्ट कीजिए।
  • "कविता का उद्देश्य शिक्षा देना या आनन्द देना या दोनों ही है", होरेस के इस कथन की समीक्षा कीजिए।
  • आई० ए० रिचर्ड्स के मूल्य सिद्धान्त पर प्रकाश डालिए।
  • सम्प्रेषण के भाषिक तंत्र पर विचार कीजिए।
  • टी० एस० इलियट के वस्तुगत समीकरण सिद्धान्त को स्पष्ट कीजिए।
  • क्रोचे के अभिव्यंजना सिद्धान्त पर विस्तार से विचार कीजिए।
  • मनोविश्लेषण की अवधारणा स्पष्ट करते हुए उसकी आधारभूत उपपत्तियों की विवेचना कीजिए।
  • शैली के स्वरूप को स्पष्ट कीजिए।

हिन्दी भाषा की संरचना के प्रश्न - Hindi Bhasha Ki Sanrachna

  • संसार के भाषा परिवारों का वर्गीकरण प्रस्तुत कीजिए।
  • साहित्यिक प्राकृत एवं पालि का अन्तर स्पष्ट कीजिए।
  • हिन्दी की उपभाषाओं और बोलियों का संक्षिप्त परिचय दीजिए।
  • हिन्दी भाषा की उत्पत्ति और विकास पर प्रकाश डालिए।
  • हिन्दी के स्वर-व्यंजन ध्वनियों का परिचय दीजिए।
  • टिप्पणी लिखिए- (क) महाप्राण ध्वनियां (ख) बलाघात
  • शब्द और पद के अन्तर को स्पष्ट कीजिए।
  • वाक्य के स्वरूप की विवेचना कीजिए।
  • हिन्दी के खंड्येतर ध्वनियों का संक्षिप्त परिचय दीजिए।
  • 'रूपिम' की संकल्पना स्पष्ट कीजिए।
  • सम्बन्ध तत्त्व के कार्यों की विवेचना कीजिए।
  • आधारभूत वाक्यों के प्रमुख वर्गों का परिचय दीजिए।
  • वाक्य और प्रोक्ति का अन्तर स्पष्ट कीजिए।
  • लिपि के स्वरूप, उद्भव और विकास का परिचय दीजिए।
  • देवनागरी लिपि के महत्त्व पर प्रकाश डालिए।

If you like this post then please share and subscribe to it.

Comments

Popular Post