CBSE Class 10 Hindi Course-a Sample Paper And Books 2023-24

Today you will get the cbse class 10 hindi course-a sample paper and books 2023-24 for examinations.

These questions have been taken from the question bank to provide the exact information about the pattern of Hindi paper. 

CBSE class 10 Hindi course-a question pattern is based on the analysis of 2023. 

These questions are given to you for better preparation for upcoming examinations. 

These are asked in the cbse previous year question paper class 10 Hindi course a.

Several times repeated in the past examination papers too. 

If you are preparing the answer to these questions in advance then definitely you will get good marks in the new session. 

First of all, write down these questions in your Hindi copy.

Then read the related chapter in your school's recommended textbook. 

Understand the concept of the lesson and the meaning of the words. 

Now prepare decent notes of class 10 Hindi important questions with Answers. 

Write the answer in your own words, this step will help you to memorize the answer in a very short time. 

Another benefit is to spend a minimum of time on revision. 

So many guess papers are available in the market to provide Important Questions for Class 10 Hindi.

But they will only be given CBSE class 10th Hindi sample paper for practice, they will not follow the pattern of the previous year's question sets. 


CBSE Class 10 Hindi Course A Question Paper 

Hindi Course A Class 10 Important Questions - कक्षा दसवीं विषय हिंदी ए के क्वेश्चन

1. निम्नलिखित काव्यांश को पढ़कर पूछे गए प्रश्नों के लिए सही विकल्प चुनकर लिखिए:- 

एक दिन तने ने भी कहा था | जड़ ? जड़ तो जड़ ही है; | जीवन से सदा डरी रही है,|  और यही है उसका सारा इतिहास | कि ज़मीन में मुँह गड़ाए पड़ी रही है; | लेकिन मैं ज़मीन से ऊपर उठा, | बाहर निकला, बढ़ा हूँ, | मज़बूत बना हूँ, इसी से तो तना हूँ, | एक दिन डालों ने भी कहा था, | तना ? किस बात पर है तना ? | जहाँ बिठाल दिया गया था वहीं पर है बना; | प्रगतिशील जगती में तिल-भर नहीं डोला है | खाया है, मोटाया है, सहलाया चोला है; | लेकिन हम तने से फूटी, दिशा-दिशा में गयीं | ऊपर उठीं, नीचे आयीं | हर हवा के लिए दोल बनीं, लहराईं, | इसी से तो डाल कहलाईं । 

(पत्तियों ने भी ऐसा ही कुछ कहा, तो ...)

एक दिन फूलों ने भी कहा था, | पत्तियाँ ? पत्तियों ने क्या किया ? | संख्या के बल पर बस डालों को छाप लिया, | डालों के बल पर ही चल-चपल रही हैं, | हवाओं के बल पर ही मचल रही हैं; | लेकिन हम अपने से खुले, खिले, फूले हैं  | रंग लिए, रस लिए, पराग लिए | हमारी यश-गंध दूर-दूर-दूर फैली है, | भ्रमरों ने आकर हमारे गुन गाए हैं, | हम पर बौराए हैं | सब की सुन पाई है, जड़ मुसकराई है !

(क) तने का जड़ को जड़ कहने से क्‍या अभिप्राय है ?

  • (१) मज़बूत है
  • (२) समझदार है
  • (३) मूर्ख है
  • (४) उदास है

(ख) डालियों ने तने के अहंकार को क्या कहकर चूर-चूर कर दिया ?

  • (१) जड़ नीचे है तो यह ऊपर है
  • (२) यों ही तना रहता है
  • (३) उसका मोटापा हास्यास्पद है
  • (४) प्रगति के पथ पर एक क़दम भी नहीं बढ़ा

(ग) पत्तियों के बारे में क्या नहीं कहा गया है ?

  • (१) संख्या के बल से बलवान हैं
  • (२) हवाओं के बल पर डोलती हैं
  • (३) डालों के कारण चंचल हैं
  • (४) सबसे बलशाली हैं

(घ) फूलों ने अपने लिए क्‍या नहीं कहा ?

  • (१) हमारे गुणों का प्रचार-प्रसार होता है
  • (२) दूर-दूर तक हमारी प्रशंसा होती है
  • (३) हम हवाओं के बल पर झूमते हैं
  • (४) हमने अपना रूप-स्वरूप ख़ुद ही सँवारा है

(ड) जड़ क्‍यों मुसकराई ?

  • (१) सबने अपने अहंकार में उसे भुला दिया
  • (२) फूलों ने पत्तियों को भुला दिया
  • (३) पत्तियों ने डालियों को भुला दिया
  • (४) डालियों ने तने को भुला दिया

निर्देशानुसार उत्तर दीजिए- (वाक्य बदले)

  • (क) वे उन सब लोगों से मिले, जो मुझे जानते थे । (सरल वाक्य में बदलिए)
  • (ख) पंख वाले चींटे या दीमक वर्षा के दिनों में निकलते हैं | (वाक्य का भेद लिखिए)
  • (ग) आषाढ़ की एक सुबह एक मोर ने मल्हार के मियाऊ-मियाऊ को सुर दिया था । (संयुक्त वाक्य में बदलिए)

निर्देशानुसार वाच्य परिवर्तित कीजिए- 

  • (क) फुरसत में मैना ख़ूब रियाज़ करती है । (कर्मवाच्य में)
  • (ख) फ्राख़्ताओं द्वारा गीतों को सुर दिया जाता है । (कर्तृवाच्य में)
  • (ग) बच्चा साँस नहीं ले पा रहा था । (भाववाच्य में)
  • (घ) दो-तीन पक्षियों द्वारा अपनी-अपनी लय में एक साथ कूदा जा रहा था । (कर्तृवाच्य में)

निम्नलिखित रेखांकित पदों का पद-परिचय दीजिए-

  • मनुष्य केवल भोजन करने के लिए जीवित नहीं रहता है, बल्कि वह अपने भीतर की सूक्ष्म इच्छाओं की तृप्ति भी चाहता है
  • किसी का ताजा चित्र नहीं छपा था 
  • तीसरी बार फिर से नया चश्मा था 
  • यह सब मैंने केवल सुना 
  • मान लीजिए की पुराने जमाने में एक भी स्त्री पढ़ी-लिखी न होती

निम्नलिखित काव्यांशों को पढ़कर उनमें निहित रस पहचानकर लिखिए-

  • (१) उपयुक्त उस खल को न यद्यपि मृत्यु का भी दंड है, पर मृत्यु से बढ़कर न जग में दंड और प्रचंड है । अतएव कल उस नीच को रण-मध्य जो मारूँ न मैं, तो सत्य कहता हूँ कभी शस्त्रास्त्र फिर धारूँ न मैं
  • (२) वह आता - दो टूक कलेजे के करता पछताता, पथ पर आता, पेट पीठ दोनों मिलकर हैं एक, चल रहा लकुटिया टेक

निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर संक्षेप में लिखिए- 

  • (क) मन्नू भंडारी ने अपनी माँ के बारे में क्या कहा है ?
  • (ख) अंतिम दिनों में मन्नू भंडारी के पिता का स्वभाव शक्की हो गया था, लेखिका ने इसके क्या कारण दिए ?
  • (ग) बिस्मिल्ला खाँ को ख़ुदा के प्रति क्या विश्वास है ?
  • (घ) काशी में अभी-भी क्‍या शेष बचा हुआ है ?
  • (ड) कौसल्यायन जी के अनुसार सभ्यता के अंतर्गत क्या-क्या समाहित है ?

निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर संक्षेप में लिखिए-

  • (क) कन्यादान कविता में माँ ने बेटी को अपने चेहरे पर न रीझने की सलाह क्‍यों दी है ?
  • (ख) माँ का कौन-सा दुख प्रामाणिक था, कैसे ?
  • (ग) जो न मिला भूल उसे कर तू भविष्य वरण - कथन में कवि की वेदना और चेतना कैसे व्यक्त हो रही है ?
  • (घ) धनुष को तोड़ने वाला कोई तुम्हारा दास होगा - के आधार पर राम के स्वभाव पर टिप्पणी कीजिए ।
  • (ड) काव्यांश के आधार पर परशुराम के स्वभाव की दो विशेषताओं पर सोदाहरण टिप्पणी कीजिए ।

प्रश्नों के उत्तर दें - 

  • आप चैन की नींद सो सकें इसीलिए तो हम यहाँ पहरा दे रहे हैं - एक फ़ौजी के इस कथन पर जीवन-मूल्यों की दृष्टि से चर्चा कीजिए |

निम्नलिखित में से किसी एक विषय पर दिए गए संकेत-बिन्दुओं के आधार पर लगभग 250 शब्दों में निबन्ध लिखिए- 

(क) विज्ञापन की दुनिया - 

  • विज्ञापन का युग
  • भ्रमजाल और जानकारी
  • सामाजिक दायित्व

(ख) पभ्रष्टाचार-मुक्त समाज

  • भ्रष्टाचार कया है
  • सामाजिक व्यवस्था में भ्रष्टाचार
  • कारण और निवारण

(ग) पी.वी. सिंधु - मेरी प्रिय खिलाड़ी

  • अभ्यास और परिश्रम
  • जुझारूपन और आत्मविश्वास
  • धैर्य और जीत का सेहरा
इन के उत्तर लिखें - 

  • अपनी दादी की चित्र-प्रदर्शनी पर अपनी प्रतिक्रिया लिखते हुए उन्हें बधाई-पत्र लिखिए |
  • अपनी योग्यताओं का विवरण देते हुए प्राथमिक शिक्षक के पद के लिए अपने ज़िले के शिक्षा-अधिकारी को आवेदन-पत्र लिखिए |

निर्देशानुसार उत्तर लिखें- 

  • (क) सब कुछ हो चूका था, सिर्फ नाक नहीं थी | (रचना के आधार पर वाक्य भेद पहचानकर लिखिए)
  • (ख) थोड़ी देर में मिठाई की दुकान बढाकर हम लोग घरौंदा बनाते थे | (मिश्र वाक्य में बदलकर लिखिए)
  • (ग) जब हम बनावटी चिड़ियों को चाट कर जाते, तब बाबूजी खेलने के लिए ले जाते | (आश्रित उपवाक्य पहचानकर लिखिए और उसका भेद भी लिखिए)
  • (घ) कानाफूसी हुई और मूर्तिकार को इजाजत दे दी गई | (सरल वाक्य में बदलिए)

निर्देशानुसार वाच्य परिवर्तन करके लिखिए-

  • (क) कैप्टेन चश्मा बदल देता था (कर्मवाच्य में)
  • (ख) इस दिन दालमंडी में शहनाई बजाई जाती थी (कृतवाच्य में)
  • (ग) वे आज रात यहीं ठहरेंगे (भाववाच्य में)
  • (घ) अब सोया नहीं जाता (कृतवाच्य में)

निम्न प्रश्नों का उत्तर दें-

  • (क) 'वीर रस' का एक उदहारण लिखिए 
  • (ख) घृणा के भाव उत्पन्न करने वाले काव्य में कौन-सा रस होगा 
  • (ग) 'श्रृंगार रस' के दो भेद कौन से हैं?
  • (घ) उद्दीपन किसे कहते हैं?

निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर 30-40 शब्दों में लिखें-

  • (क) हालदार साहब और कैप्टेन के चरित्र की दो विशेषताओं का उल्लेख करें
  • (ख) "पतनशील सामंती समाज झूठी शान के लिए जीता है" - 'लखनवी अंदाज' पाठ के आधार पर स्पस्ट करें
  • (ग) "भगत की पुत्रवधू और भगत दोनों एक दुसरे की हित-चिंता में जिद्द पर अड़े थे" - पुष्टि कीजिए
  • (घ) 'मानवीय करुणा की दिव्य चमक' पाठ के आधार पर इलाहाबाद के साहित्यिक परिवेश का वर्णन करें  
  • (ङ) "विद्यार्थी जीवन में योग्य शिक्षक सही दिशा दिखाने वाले मार्गदर्शक होते हैं" - 'एक कहानी यह भी' के आधार पर स्पस्ट करें|

निम्न प्रश्नों के उत्तर 30 से 40 शब्दों में लिखें-

  • (क) 'उत्साह' कविता में कवि का कोमल ह्रदय और क्रांतिकारी रूप दोनों दीखते हैं, यह कैसे कहा जा सकता है?
  • (ख) 'मृगतृष्णा' से आप क्या समझते हैं? 'छाया मत छूना' में वह किस अर्थ में प्रयुक्त हआ है?
  • (ग) गोपियों के माध्यम से सूरदास ने निर्गुण भक्ति पर कृष्ण-भक्ति को बेहतर साबित किया है - इस पर टिप्पणी करें| 

निम्न प्रश्नों के उत्तर 50 से 60 शब्दों में लिखें-

  • (क) 'माता का आँचल' पाठ में वर्णित खेलों से आज के खेल कितने अलग हैं, इसका तुलनात्मक वर्णन करें
  • (ख) पहाड़ी लोगों का जीवन मैदानी जीवन से अधिक संघर्षपूर्ण होता है | 'साना-साना हाथ जोड़ी' पाठ के आधार पर उदहारण सहित स्पस्ट करें|
  • (ग) "जॉर्ज पंचम की नाक' में मूर्तिकार एक अवसरवादी व्यक्ति है जो सबको मुर्ख बनाकर अपना उल्लू साध रहा है"| तर्क सहित पुष्टि करें |

निम्न प्रश्नों के उत्तर लिखें-

  • 1. आप एक रिश्तेदार को देखने किसी अस्पताल में गए और वहाँ रख-रखाव और सफाई में बहुत सारी कमियाँ दिखी | ध्यान दिलाने पर कर्मचारी ने दुर्व्यवहार किया | इसकी शिकायत मुख्य-चिकित्सा अधिकारी से करते हुए उचित कार्रवाई करने की माँग करते हुए 80-100 शब्दों में पत्र लिख कर कीजिए |
  • 2. किसी मुद्दे पर आपका अपने मित्र से मतभेद हो गया है | इसे 80-100 शब्दों में पत्र लिखकर अपना पक्ष स्पस्ट करते हुए बताइए की यह मित्रता आपके लिए क्या महत्व रखती है |

निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर लिखें-

  • 1. सर्व शिक्षा अभियान के तहत 'व्यस्क साक्षरता मिशन 2020' के लिए एक विज्ञापन 25-50 शब्दों में तैयार करें |
  • 2. अपनी पुरानी साइकिल अब आपके लिए छोटी पड़ रही है | उसे बेचने के लिए कोई आकर्षक विज्ञापन 25-50 शब्दों में तैयार करें |


Hindi Textbook Class 10 NCERT 

  • Kshitij Part - 1 
  • Kshitij Part - 2 
  • Sparsh Part - 1 
  • Sparsh Part - 2 
  • Kritika Part - 1 
  • Kritika Part - 2 
  • Sanchayan Part - 1 
  • Sanchayan Part - 2 
  • Abhyaswaan Bhav - Dr. Surbhi Bajpai & Dr. Mukesh Aggarwal 
  • Vyakaranavithi - Dr. Surbhi Bajpai & Dr. Mukesh Aggarwal


Hindi Textbook Class 10 SSC 

  • Sampurna Hindi Vyakaran - Dr. Umesh Chandra Sharma 
  • Hindi Sahitya Sagar - Smt. Vijaylaxmi Jugran & Smt. Paras Gupta 
  • Hindi Sahitya Sagar - Pushlata Bhatnagar 
  • Hindi Sahitya Sagar - Dr. Madhurlata Aggarwal & Beena Negi

If you like this post please share and subscribe to it. 

Comments

Popular Posts