B.A. 3rd Year Hindi Literature Syllabus 2022-2023

Today you will get a b.a. 3rd year hindi literature syllabus for the session 2022-2023. 

This syllabus consists of related chapters on this subject in full detail. 

The number of students who passed the second-year examination and appeared for the third year. 

This will help them to study for the next level. 

University announces the new syllabus every year, but sometimes they delay. 

Then this one is helpful to you to guide, which chapter you should learn or which escape. 

If your university has provided you the new syllabus for the session 2023 then follow the guidelines of that. 

University professors are only responsible or authorize to make the new syllabus for new students. 

Sometimes they are issued with a simple modification. 

So, you match this syllabus with that, and if matches then prepare the answer for the exam. 

The pattern of the syllabus is based on the pattern of ba 3rd year hindi literature syllabus 2022.

BA 3rd year Hindi syllabus is very important for you.

After passing the third-year degree courses, you move to the masters. 

The Hindi Sahitya syllabus is not very tough, regular practice makes you perfect in this subject. 

BA Final Year Hindi Literature Syllabus

स्नातक खण्ड - 3 (भाषा विज्ञान)

पाठ्यांश -

  • यूनिट -1 भाषा की परीभाषा, विशेषताएँ, भाषा-बोली
  • यूनिट -2 भाषा विज्ञान की परिभाषा, भाषा विज्ञान की उपयोगिता, ज्ञान की अन्य शाखाओं से संबंध
  • यूनिट -3 भाषा विज्ञान के विभिन्‍न अंगों का परीचयात्मक अध्ययन (ध्वनि, शब्द, वाक्य और अर्थ विज्ञान)
  • यूनिट -4 हिन्दी की शब्द-संपदा-शब्द कोटियाँ - संज्ञा, सर्वनाम, विशेषण और क्रिया विशेषण, व्याकरणिक कोटियाँ-लिंग, वचन, काल, कारक
  • यूनिट -5 हिन्दी भाषा का उद्भव और विकास, आर्य भाषाओं का परिचय
  • यूनिट -6 राष्ट्रभाषा, राजभाषा और संपर्क भाषा के रूप में हिन्दी, हिन्दी का वर्तमान राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्वरूप

B.A 3rd Year Hindi 1st Paper Syllabus

(भारतीय काव्यशास्त्र और भारतीय एवं पाश्चात्य साहित्य-सिद्धांत)

  • यूनिट -1 काव्य-लक्षण, काव्य हेतु, काव्य-प्रयोजन, काव्य के प्रकार, शब्द-शक्तियाँ
  • यूनिट -2 रस, अलंकार, रीति, ध्वनि और वकोक्ति सिद्धांतों का सामान्य परिचय
  • यूनिट -3 अलंकार और छंद - अलंकार - रूपक, उपमा, अनन्वय, दृश्टांत, विभावना, विरोधाभास, असंगति, अतिशयोक्ति, संदेह, भ्रांतिमान, छंद-दोहा, चौपाई, सोरठा, कवित्त, सवैया, छप्पय, मंदाकांता, द्वुतविलंबित, इंद्रवज़ा, शिखरिणी, कुंडलिया
  • यूनिट -4 पाश्चात्य आलोचक - प्लेटो, अरस्तू, मैथ्यू, आर्नल्ड, आई० ए० रिचर्ड्स के साहित्य सिद्धांतों का सामान्य परिचय
  • यूनिट - 5 भारती समीक्षक - आचार्य रामचंद्र शुक्ल, आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी, डॉ० नंददुलारे वाजपेयी, डॉ० लक्ष्मीनारायण सुधांशु, डॉ० राविलास शर्मा, डॉ० नामवर सिंह, आचार्य नलिनविलोचन शर्मा

B.A 3rd Year Hindi 2nd Paper Syllabus

प्रयोजनमूलक हिन्दी 

यूनिट -1

  • प्रयोजनमूलक हिन्दी का स्वरूप एवं उद्देश्य
  • सर्जनात्मक और प्रयोजनमूलक साहित्य का अंतर
  • हिन्दी भाषा की व्यापकता

यूनिट -2

  • हिन्दी की विविध शैलियाँ
  • प्रयुक्ति के संदर्भ में प्रयोजनमूलक हिन्दी
  • पारिभाषिक शब्दावली एवं उसके निर्मान के सिद्धांत

यूनिट -3

  • प्रयोजनमूलक हिन्दी - प्रकार एवं लक्षण
  • कार्यालयी हिन्दी - प्रयोग एवं भाषाई लक्षण
  • व्यावसायिक हिन्दी - प्रयोग एवं भाषाई लक्षण

यूनिट -4

  • अनुवाद का अर्थ एवं प्रक्रिया
  • अनुवाद में हिन्दी का प्रयोग
  • अनुवाद के विविध प्रकार

यूनिट -5

  • पत्रकारिता की परिभाषा एवं प्रकिया
  • पत्रकारिता में हिन्दी का प्रयोग
  • पत्रकारिता में प्रयुक्त तकनीकी शब्द

B.A 3rd Year Hindi 3rd Paper Syllabus

हिन्दी पत्रकारिता

पाठ्यांश -

यूनिट -1

  • पत्रकारिता की परिभाषा और उद्देश्य
  • भारतेन्दु युगीन हिन्दी पत्रकारिता
  • स्वतंत्रता संघर्ष और हिन्दी पत्रकारिता
  • स्वातंत्रयोत्तर पत्रकारिता

यूनिट -2

  • समाचार का तात्पर्य
  • समाचार के विविध ख्रोत
  • संपादन कला के सिद्धांत

यूनिट -3

  • साक्षात्कार के प्रकार
  • शीर्षक का महत्व और प्रकार
  • फीचर लेखन और उसका उद्देश्य

यूनिट -4

  • संपादकीय टिप्पणियाँ
  • अग्रलेख
  • स्तंभ लेखन

यूनिट -5

  • मुद्रण कला का सामान्य ज्ञान
  • प्रूफ रीडिंग
  • मेकअप और पृष्ठ संरचना

B.A 3rd Year Hindi 4th Paper Syllabus

विशेष अध्ययन - दलित साहित्य और स्त्री विर्मश

पाठ्यांश - 

उपन्यास - 

  • (क) धरती धन न अपना - जगदीशचंद्र
  • (ख) मित्रों मरजानी - कृष्णा सोबती 

कहानियां - 

  • (क) ठाकुर का कुआँ - प्रेमचंद, शवयात्रा- ओमप्रकाश
  • (ख) वाल्मीकि, बदबू - सूरजपाल चौहान
  • (ग) अंतिम आदमी - हरीवंश नारायण

आत्मकथा - 

  • (क) अपने-अपने पिंजरे - मोहनदास नैमिशारण्य 

चिंतन - 

  • (क) श्रृंखला की कड़ियाँ - महादेवी वर्मा

यूनिट -1

  • दलित साहित्य का वैचारिक आधार
  • जाति व्यवस्था एवं छुआछूत
  • आधुनिक भारत में दलित

यूनिट -2 (स्त्री-विमर्श)

  • पुरूष प्रधान समाज और स्त्री
  • आधुनिक भारत में स्त्री
  • स्त्रीवाद की अवधारणा एवं स्त्री-आंदोलन

यूनिट -3

  • धरती धन न अपना - कथावस्तु, चरित्र-चित्रण, दलित जीवन की त्रासदी
  • अंतिम आदमी - कथावस्तु, उद्देश्य
  • मित्रो मरजानी - कथावस्तु, मित्रो का चरित्रांकन, स्त्री-मुक्ति के रास्ते की पहचान

यूनिट -4

  • पठित कहानियों में दलित जीवन चित्र
  • अपने-अपने पिंजरे की कथावस्तु, समाज का यथार्थ
  • आत्मवृत

यूनिट -5

  • श्रृंखला की कड़ियाँ
  • स्त्रीमुक्ति का प्रथम दस्तावेज
  • स्त्री मुक्ति का स्वप्न
  • बंधनों की पहचान

सगुण भक्ति काव्य - पाठ्यक्रम

पाठ्यांश -

  • भ्रमरगीत सार - सूरदास (सं० आचार्य रामचंद्र शुक्ल) पद सं० 6, 9, 40, 408, 409, 444, 446, 425, 430, 434 (कुल 40 पद)
  • कवितावली -- तुलसीदास - (गीताप्रेस, गोरखपुर) अयोध्याकांड -4, 2, 5, 6, 7, 8, 44, 48, 20, (कुल 9 पद)
  • मीरा - मीराबाई की पदावली, सं० आचार्य परशुराम चतुर्वेदी -- पद सं०- 50 से 54 (कुल 5 पद)
  • रसखान - सं० रसखान रचनावली, विद्यानिवास मिश्र, पद सं०-- 4, 2, 3, 34, 32, 35, 422, 425 - कुल 8 छंद

रहीम दोहे - 

  • (क) ये रहीम दर-दर फिरे
  • (ख) जैसे तुम हमको करी
  • (ग) अनुचित वचन न मानिए
  • (घ) जो गरीब परिहित करे
  • (ड) चित्रकूट में रमि रहै

बरवै - 

  • (क) कासन कहै सँदेसवा
  • (ख) बहुत दिना पर पियवा
  • (ग) लैके सुघर सुरूपिया

यूनिट -1

  • सूरदा की कविता के आधार-आ्रोत
  • भ्रमरगीत का दार्शनिक पक्ष
  • सूर की काव्यभाषा

यूनिट -2

  • तुलसीदास का लोकमंगल
  • दर्शन एवं भक्ति
  • काव्यभाषा - शैली

यूनिट -3

  • मीरा की कृष्णभक्ति
  • प्रेम का स्वरूप
  • गेयता एवं भाषा-शैली

यूनिट -4

  • कृष्ण भक्ति-पंरपरा और रसखान
  • ब्रजभूमि का वर्णन
  • काव्यभाषा एवं काव्य-रूप

यूनिट -5

  • रहीम का काव्य
  • नायक - नायिका भेद
  • नीतिपरक दोहे

लोक - साहित्य (पाठ्यक्रम)

पाद्याश -

  • लोक और लोककवार्ता, लोकवार्ता और लोक विज्ञान, लोक संस्कृति - लोक अवधारणा, लोक संस्कृति और साहित्य, भारत में लोकसाहित्य के अध्ययन की परंपरा, लोक साहित्य के प्रमुख रूपों का वर्गीकरण, लोकगीत, लोकनाट्य लोककथा, लोकनृत्य, लोकगीत - स्वरूप एवं भेद, लोकगीत की विशेषता, लोकनाट्य के भेद, लोकनाट्य की विशेषता, लोकगाथा के भेद एवं विशेषता, लोक नृत्य का स्वरूप और विशेषता, मुहावरा-स्वरूप एवं विशेषता, पहेलियों का स्वरूप एवं विशेषता

व्याख्या के पुस्तक - 

  • मगही संस्कार गीत-गीत संख्या - से 45 तक
  • भोजपुरी संस्कार गीत-गीत संख्या - से 45 तक
  • मैथिली संस्कार गीत-गीत संख्या - से 45 तक

You will get recommendation for ba third year hindi book.

These books are important to prepare notes on this subject.

These are textbooks. Writers' names are also included. 

BA 3rd Year Hindi Book

BA 3rd Year Hindi Literature Book With Writers Name

  • हिंदी या काव्यांग - पर्योजनामुलक
  • हिंदी विशेष - सतीश & ब्रदर की बुक 
  • हिंदी साहित्य प्रायोजक मूलक हिंदी - डॉ राजीव शर्मा & डॉ पिंकी मिश्रा 
  • हिंदी काव्य - डॉ एस. के. शर्मा
  • मगही संस्कार गीत - डॉ विश्वनाथ प्रसाद
  • भोजपुरी संस्कार गीत - श्री हंसकुमार तिवारी & श्री राधावल्लभ शर्मा 
  • मैथिली संस्कार गीत - श्री राधावल्लभ शर्मा 
  • लोक - साहित्य - डॉ सत्यनारायण दुबे
  • सगुण भक्ति काव्य - राम स्वरुप चतुर्वेदी
  • दलित साहित्य और स्त्री विर्मश - विनोद श्रीवास्तव (दलित साहित्य की अवधारण और स्वरुप)
  • हिंदी गद्य पद्य संग्रह - डॉ दिनेश प्रसाद सिंह

If you like this post please share and subscribe to it. 

Comments

Search This Blog

My photo
Rajesh Deepak
My name is Rajesh Deepak. I am working in a Private Organization. I started this blog to provide good exam materials for students, who are preparing for the upcoming examinations.