General Knowledge Questions And Answers In Hindi For Competitive Exams 2022-23

सामान्य ज्ञान के प्रश्न उत्तर हिन्दी प्रश्नोत्तरी, indian general knowledge questions and answers pdf, easy general knowledge questions and answers in hindi, simple general knowledge questions and answers in hindi, latest general knowledge questions and answers in hindi, basic general knowledge questions and answers about india, g k questions and answers for school students, General Knowledge Questions And Answers In Hindi For Competitive Exams 2022-23

आज इस पोस्ट के माध्यम से Easy General Knowledge Questions And Answers In Hindi 2022 आपके समक्ष प्रस्तुत किया जायेगा | जिसके जबाब हिंदी में होंगे | आपको ये बता दें की अभी यहाँ पर सवाल जबाब सम्मलित किये गए हैं | जिनके उत्तर को सही ढंग से और विस्तार पूर्वक आपके समक्ष रखा जा रहा है और उन्हें ही यहाँ लिया गया है, आने वाले समय में और भी प्रश्नों को इसमें समाहित किया जायेगा जो आपके ज्ञानवर्धन के लिए आवश्यक होगा | 


General Knowledge Questions And Answers In Hindi For Competitive Exams
General Knowledge Questions And Answers In Hindi


इन प्रश्नोतरी को क्लास 10 की बोर्ड परीक्षा, इंटर की परीक्षा, प्रतियोगिता परीक्षा के लिए, ग्रेजुएशन परीक्षा आदि के लिए महतवपूर्ण मान कर तैयार किया गया है | सामान्य ज्ञान के लिए भी आप इसे पढ़ सकते हैं और किसी व्यक्ति से पूछ कर अपना आत्मबल बढ़ा सकते हैं | 

General Knowledge Questions And Answers For Competitive Exams And Kids In Hindi

प्रथम प्रश्न 

सीबीआई क्या है, सीआईडी क्या है और सीआईडी और सीबीआई में क्या फर्क है? इनका फुल फॉर्म भी बतायें 

जैसा की सभी को पता है की सीआईडी एवं सीबीआई दोनों भारत सरकार की एक काम करने वाली इकाई है| आज आपको इनके बारे में कुछ जानकारी देने जा रहे है जैसे -'सीआईडी एवं सीबीआई क्या है? CID एवं CBI में अंतर'| वैसे तो जो खबरे न्यूज़ या अख़बार में छपती हैं उनमे कई बार CBI एवं CID के बारे में भी विस्तार से बताया जाता है और आपको भी थोडा बहुत इन संस्थानों के कार्यकलापो के बारे में पता होगो ही| 

लेकिन क्या आपको पता है की CID एवं CBI में क्या अंतर है क्यों की दोनों तो जांच एजेंसी ही हैं| जब इनमे से कोई भी एजेंसी किसी जांच में जुट जाती है तो लोगो के कान खड़े हो जाते हैं और न्यूज़ पेपर में खबरे छपनी शुरू हो जाती हैं और वो घटना ब्रेकिंग न्यूज़ में तब्दील हो जाती है| विश्व के सभी देशो के पास अपने जांच एजेंसी होती है जो निष्पक्ष रूप से किसी भी घटना की जांच कर रिपोर्ट सरकार को देती है| 

चाहे वो घटना फाइनेंस से सम्बंधित हो या दूसरी किसी घटना से सम्बंधित| बहुत से आपराधिक मामलो में भी इन एजेंसी को शामिल कर के केस को सुलझाया जाता है| इन दोनों जांच एजेंसी के काम करने के अपने एक तरीके हैं और उन्ही पर अमल करते हुये ये काम करती हैं|

सीबीआई भारत सरकार की एक जांच एजेंसी है और इसका फुल फॉर्म 'Central Bureau Of Investigation' है| हिंदी में इसे केंद्रीय जांच ब्यूरो भी कहा जाता है| आपको इसके नाम से ही पता चल गया होगो की ये भारत की जांच Agency है| क्योकि इसके नाम में ही भारत लगा हुवा है| 

CBI देश तथा विदेश में जांच का काम करती है ये उन घटनावो की जांच करती है जिसके जांच का अनुमोदन केंद्र सरकार द्वारा किया गया हो| वो जांच या तो देश में हो या विदेश में, दोनों के लिए ये ब्यूरो काफी काम करती है| जैसा की आप जानते है की हाल के अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput CBI) के मौत की सीबीआई जांच के लिए नामित किया था बिहार सरकार ने|

आपको ये जानकर हैरानी होगी की CBI की स्थापना 1941 में हुयी थी उस समय भारत आजाद भी नहीं हुआ था| बाद के दिनों यानि 1961 में इसका नामकरण किया गया और CBI (Central Bureau Of Investigation) नाम दिया गया| ऐसा अमूमन देखा जाता है की राज्य सरकारों के सिफारिश करने पर CBI किसी केस की जांच शुरू करती है ये सिफारिश राज्य सरकारे केंद्र को भेजती हैं| 

उसके बाद केंद्र आदेश जारी करता है| न्यायलय के आदेश पर भी जांच की जा सकती है और इसमें राज्य सरकारों की अनुमति की भी आवश्यकता नहीं है| इस संस्थान में भर्ती की प्रक्रिया SSC द्वारा आयोजित प्रतियोगिता परीक्षा द्वारा की जाती है|

CID का फुल फॉर्म Crime Investigation Department होता है| साधारण रूप में समझे तो ये एजेंसी या डिपार्टमेंट राज्य सरकारों के अधीन काम करता है| इस जांच एजेंसी का काम राज्य के अन्दर होने वाले अपराध जैसे - हत्या, लूट और अन्य जघन्य अपराध की जांच करना है| ये सीधे राज्य सरकार को रिपोर्ट करती है और जांच से सम्बंधित जानकारी को शेयर करती है|

इस संस्थान की स्थापना अंग्रेजो के समय हुईं थी और ब्रिटिश गवर्नमेंट ने 1902 में इस फंक्शन में लाया| इस संस्थान को जांच का अधिकार राज्य सारकार या राज्य का हाई कोर्ट दे सकता है| इसका भी मुख्य उद्देश्य  हत्या, दंगा, लूट और अन्य अपराधिक घटनावो की जांच कर राज्य या कोर्ट को अवगत कराना है| इस में शामिल पुलिस कर्मियों को सभी तरह के प्रशिक्षण दिए जाते हैं जैसे - शारीरिक, तकनिकी आदि| जैसा की यहाँ CID का फुल फॉर्म जाना| इस संस्थान के ऊपर भी कई टीवी शो बने और लोकप्रिय भी हुये जैसे CID serial के कई episode अब तक प्रसारित हो चुके हैं|

जैसा की ऊपर लिखी पंक्तियों में इन दोनों के बीच के कार्यो का अंतर स्पष्ट हो गया है| अब कुछ विशेष अंतर के बारे में बात करे| वैसे तो इन का कार्य छेत्रफल ही सबसे बड़ा अंतर है लेकिन कुछ विशेष अंतर को भी समझना जरुरी है|

  • CID का कार्य एक राज्य तक ही सिमित होता है, जबकि CBI का कार्य का छेत्रफल पूरा भारत है| साथ ही जरुरत पड़ने पर CBI विदेश में जाकर भी किसी केस की जांच कर सकती है जबकि CID नहीं|
  • एक सबसे बड़ा अंतर ये भी है की CID को जांच का आदेश हाई कोर्ट और राज्य सरकार के द्वारा दी जाती है और उसकी रिपोर्ट भी CID उन्ही के पास जमा करती है| इसका सीधा मतलब है की CID राज्य की सरकार और हाई कोर्ट के लिए ही जबाबदेह है| जबकि CBI के साथ ऐसा नहीं है, ये ब्यूरो पुरे भारत के केस (CBI Janch) को हैंडल कर सकता है और ये सर्वोच्य न्यायलय, हाई कोर्ट और भारत सरकार के लिए जबाबदेह है| 
  • CID का अधिकारी बनाने के लिए राज्य सरकार के पुलिस विभाग में नौकरी करनी होती है फिर वहाँ से वो CID में अधिकारी बन सकता है जबकि इसके उलट CBI अधिकारी बनने के लिए आपको SSC का एग्जाम पास करना होगा और तब आपकी नियुक्ति हो पायेगी|
  • दोनों संस्थानों की स्थापना काल या यो कहे वर्ष अलग अलग है लेकिन दोनों अंग्रेजो के शासन काल में ही फंक्शन में आये| आज दोनों संस्थानों पर देश और राज्य के लोगो का अटूट विश्वास कायम है| यही बढ़ी बात है| अब आप समझ ही गए होंगे की इन दोनों का क्या महत्वा है भारत की जनता और सरकार के लिए| हाल के दिनों में सीबीआई के कई कारनामे हमारे सामने आये जैसे की विदेश में बसे नीरव मोदी पर कानून का शिकंजा कसना, विजय माल्या को कोर्ट का रास्ता दिखाना| ये चीजे इतनी आसानी से नहीं हुयी| 

CBI ने वहाँ की सरकार को साथ लेकर इन लोगो पर दबाव बनवाया और कानून के दाएरे में लाया| कई राज्यों की CID ने भी अपने राज्य में हुये घटनावो पर अंकुश लगाने में राज्य सरकारों की मदद की और बेहतर रिजल्ट दिए|

दूसरा प्रश्न

सूर्य ग्रहण कैसे लगता है, ग्रहण किसे कहते हैं? - What is solar eclipse?

आपको बता दें की ग्रहण एक खगोलीय घटना होती है और ये तब होती है जब कोई खगोलीय पिंड या अंतरिक्ष यान कुछ समय के लिए किसी अन्य पिंड की छाया में आता है या पिंड और उसे देखने वाले के बीच कोई और पिंड आ जाता है | अतः कहा जा सकता है की तीन आकाशीय पिंडो का एक सीध में आना युति वियुती रूप में जाना जाता है और इसे ही ग्रहण कहते हैं |

उसी प्रकार से सूर्य ग्रहण एक तरह का ग्रहण ही है, इसमें जब चन्द्रमा, पृथ्वी और सूर्य के मध्य से होकर गुजरता है तथा पृथ्वी से इसे देखने पर सूर्य पूर्ण या आंशिक रूप से चन्द्रमा द्वारा आच्छादित होता है तो उसे सूर्य ग्रहण कहते हैं |

तीसरा प्रश्न

ओटीपी का मतलब क्या है?, What is the full form of otp?

आज सारा विश्व डिजिटल युग में प्रवेश कर गया है| सबसे ज्यादा तो इस टेक्नोलॉजी का उपयोग कोरोना महामारी के समय में किया गया| इस महामारी के कारण एक दुसरे के संपर्क में आने से बचना था और किसी वस्तु को भी छूने से लोग परहेज करने लगे थे, उस समय लोगो ने डिजिटल लेन देन को प्रमुखता दी| 

लेकिन लोगो के बीच सबसे बड़ी चुनौती इस लेन देन में होने वाली सुरक्षा थी| इसी लेन देन को सुरक्षित रखने के लिए एक कोड की जरुरत महसूस की गयी, जो ऑनलाइन के प्रत्येक लेन देन के लिए अलग अलग हो, इसी कारण से ओटीपी कोड का निर्माण हुआ और इसका उपयोग शुरू हुआ|

इस कोड का उपयोग कर के युजर अपने सभी ऑनलाइन लेन-देन को सुरक्षित रख सकते हैं| आज के इस डिजिटल दुनिया के लिए ओटीपी एक जबरदस्त सुरक्षा कवच है जो लोगो के पैसे और डाटा दोनों को सुरक्षित रखने में अहम् योगदान रखता है| आज हम इसका मतलब और अर्थ दोनों जानेगे की ओटीपी क्या होता है और इसका अर्थ क्या है|

सामान्य रूप से आपके दिमाग में ये बात आती होगी की ओटीपी क्या है, ओटीपी का मतलब है One Time Password, ये सुरक्षा प्रदान करने वाला एक डिजिटल कोड है|  जिसे सामान्यतः ऑनलाइन लेन देन के समय यूज किया जाता है और इसको तकनिकी रूप में जनरेट कर युजर को भेजा जाता है| साधारण रूप में समझे की जब युजर अपने इंटरनेट बैंकिंग को यूज करते हुये ऑनलाइन लेन देन का प्रोसेस शुरू करता है उस समय युजर के द्वारा सभी जानकारी देने के बाद अंत में इस कोड की डिमांड की जाती है और वही 'ओटीपी' होता है| 

जैसे कोई ऑनलाइन शौपिंग, मोबाइल रिचार्ज, पैसा ट्रान्सफर आदि करता है उस समय ये कोड सिर्फ एक बार के उपयोग के लिए जनरेट होता है| दूसरी बार के लिए फिर से कोड को प्राप्त किया जाता है| ये ही सुरक्षा का सबसे बड़ा कारण है| सीधा मतलब इसका है की ये एक ऐसा पासवर्ड युजर के लिए है जिसको वे एक बार के बाद यूज नहीं कर सकते, मतलब ये बेकार हो जाता है| 

जब भी आप कही अपने डेबिट/क्रेडिट कार्ड से कोई भी ऑनलाइन शौपिंग करते होंगे या वेबसाइट पर लॉग इन करते होंगे तो ओ OTP नंबर मांगता होगा तब आपके दिमाग में या बात आती होगी की ये OTP नंबर क्या है और ये क्यों माँगा जा रहा है| तो अब आपको ये समझ आ गया होगा की OTP क्या है|

अब आपके जेहन में ये प्रश्न भी कौंध रहा होगा की ओटीपी कोड कितने डिजिट का होता है, तो आपको ये बता दूँ की ओटीपी सामान्यतः 6 अंक या डिजिट का होता है|  आपको ये भी बता दे की आज के समय में लगभग सभी लोगो OTP से अवगत हैं तो आईये जानते है आगे OTP से सम्बंधित और सभी बाते|

शायद आप ये बात जानते है होंगे की बहुत से वेबसाइट SMS OTP का उपयोग करते हैं| इसका कारण है की ये सुविधा जनक और लोकप्रिय माध्यम है और आसानी से उपलब्ध हो जाता है| भारत में टेक्नोलॉजी से बहुत कम लोग ही अपडेट हैं लेकिन फिर भी मोबाइल को आसानी से उपयोग में ला सकते हैं और फमिलिएर भी होते है, इसलिए SMS एक बेहतरीन रास्ता है युजर के लिए| 

OTP के लिए एक और विकल्प है जिसे वायस कालिंग कहते हैं इसके उपयोग के तहत आपके फोन पर कॉल आएगा और आपको आपका OTP बताया जायेगा| साधारन्यतः इस का उपयोग Facebook या WhatsApp युजर अपने अकाउंट को क्रिएट करते समय करते हैं| ये प्रोसेस भी बहुत ही सेफ यानि सुरक्षित है किसी वेबसाइट में अपने इनफार्मेशन या डाटा को सेफ रखने के लिए|

कभी कभी OTP Email के द्वारा भी प्राप्त होता है इस में आपको जो ईमेल रजिस्टर रहेगा उसी पर OTP जनरेट करके भेज दिया जाता है| आप उस OTP का प्रयोग कर सकते हैं|  आज कल देखा गया है की नेट बैंकिंग में OTP रजिस्टर मोबाइल और ईमेल दोनों पर भेजा जाता है और दोनों अलग-अलग होते हैं, आपकी सेफ्टी के लिए | आपका अकाउंट तभी ओपन होगा जब आप दोनों OTP का उपयोग करेंगे| ये एक तरह से युजर को दोहरी सुरक्षा देने का काम करता है| 

आपको ये बात भी बता दे की OPT का इस्तेमाल सामान्य रूप से इंटरनेट बैंकिंग के अलावा ई-कॉमर्स वेबसाइट के लिए और सोशल साईट के लिए भी होता है और इन सबमे आपकी सुरक्षा ही निहित होती है| ये ग्राहक के ऑनलाइन लेन देन को साइबर क्राइम से भी सेफ करती हैं|

चौथा प्रश्न

दुनिया में कुल कितने देश हैं नाम बताइए, How many countries are there in the world their names?

दुनिया में कुल कितने देश हैं में, इसकी जानकारी बहुत कम ही लोगो को है | ये जानना बहुत ही जरुरी है की आखिर इस धरती ने कितना बोझ अपने ऊपर रख छोड़ा है और इतने देश कौन से हैं जो मानव सभ्यता की गवाही दे रहे हैं | इस प्रश्न पर बहुत से जबाब आपको इन्टरनेट पर सर्च करने पर मिल जायंगे | 

वैसे जो जानकारी अभी उपलब्ध है उसके हिसाब से विश्व में 195 देश हैं, इन देशो में लगभग 193 देश तो संयुक्त राष्ट्र के वर्तमान सदस्य भी हैं और अपना एक स्थान भी रखते हैं इस लिस्ट में दो देश जो सम्मलित नहीं हैं उनका नाम है वेटिकन सिटी और चाइना के बॉर्डर से सटा हुवा देश ताइवान | 

ताइवान एक छोटा देश है जो चाइना की सोच के विपरीत सोच रखता है और अपने को एक आजाद मुल्क मानता है, जबकि चाइना उसे अपने ही देश का एक अभिन्न अंग मानता है | आज भी चाइना और ताइवान के बीच कोल्ड वार चल रहा है | कोरोना के समय से कुछ ज्यादा ही परेशानी ताइवान को चाइना की तरफ से झेलनी पड़ रही है |

आप अगर ऊपर दिए गए आकड़ो को देखेंगे तो आपको कुछ बदलाव अभी के समय के हिसाब से लगेगा | इसे आप मौजूदा दौर के आकड़ो के अनुसार देखे या अपनी जानकारी को इसके समक्ष रख कर देखे तो कुछ बदलाव आप कर सकते हैं और वैसे भी समय समय पर इसे अपडेट किया जायेगा |

अगर सामान्य जानकारी की बात की जाये तो पूरे विश्व में 240 से भी कही ज्यादा देश और प्रदेश हैं लेकिन सभी को यूनाइटेड स्टेट्स द्वारा मान्यता प्रदान नहीं की गयी है इस कारण से 240 में 193 ही फंक्शन में नजर आते हैं | 

आज कल तो कुछ आमिर लोग छोटी-छोटी द्वीप को भी खरीद कर उस पर अपने लिए एक देश का निर्माण कर लेते हैं और अपने अपने हिसाब से वहाँ कानून और सत्ता का चलन शुरू कर देते हैं | ऐसा बहुत से देशो के लोगो को करते हुये देखा गया है | कुछ लोग इस तरह के द्वीप का निर्माण अपने रहने वाले देश के कानून से बचने के लिए भी करते हैं | ऐसा एक उदहरण भारत में भी देखने को मिला | 

यहाँ आप ये जान गए की कितने देश इस विश्व में विद्यमान हैं अब ये भी जानना जरुरी है की इनमे से कौन से देश किस महाद्वीप के अन्दर आते हैं | वैसे तो विश्व में 7 महाद्वीप हैं और सभी अपने आप में बहुत महत्वपूर्ण हैं | इस महाद्वीप की भी कुछ खास विशेषताए हैं जो शायद आपको पता नहीं हो तो आईये जानते हैं उनकी कुछ बाते -

अफ्रीका - आपको ये जानकर हैरानी होगी की ये विश्व का सबसे विशाल महाद्वीप है जो सोने और हीरे के उत्पादन के स्रोत के रूप में जाना जाता है | वैसे तो इस महाद्वीप का अधिकतर (1/3) भाग रेगिस्तान जैसा है लेकिन ये भी कहा जाता है की मानव सभ्यता का अवतरण सर्वप्रथम यही से हुवा | 

इस महाद्वीप में सूडान, मोरीशश, नाईजेरिया जैसे देश शामिल है जो अपनी एक अलग परम्परा के लिए जाने जाते हैं | इस महाद्वीप का सबसे छोटा देश सेशेल्स और सबसे बड़ा सूडान है | अफ्रीका की सभ्यता और संस्कृति अद्भुत है और पूरे विश्व के लिए हमेशा कौतुहल का विषय बनी रहती है |

ऐशिया - इस महाद्वीप में भारत जैसा बड़ा राष्ट्र आता है जो एशिया महाद्वीप का एक उत्कृष्ट देश है जिसमे कई तरह की जातीय और मिस्त्रित सभ्यता के लोगो का वास है | एशिया विश्व का सबसे बड़ा महाद्वीप के रूप में जाना जाता है और इस बड़े भूभाग के लिए आप कह सकते हैं की विश्व का 1/3 भाग में एशिया महाद्वीप ही स्थित है | 

इस सेंटेंस से आप समझ ही गए होंगे की कितने बड़े भाग पर एशिया महाद्वीप अवस्थित है | इस महाद्वीप में रूस जैसा बड़ा देश भी आता है और आपको ये जानकर हैरानी होगी की जनसंख्या और छेत्रफल के हिसाब से ये पहला नंबर पायेगा | 

इस महाद्वीप में स्थित भारत की ही आबादी 130 करोर से ऊपर जा चुकी है और जनसंख्या के हिसाब से प्रथम नंबर पर चीन आता है जो इस महाद्वीप का हिस्सा है | इस महाद्वीप पर लगभग 50 देश हैं जिनमे मलेशिया, पाकिस्तान, जापान, श्रीलंका, ईरान के साथ फिलिपिन्स भी हैं | इनमे से अधिकतर भारत के सरहद से काफी नजदीक या यो कहे सटे हुये हैं |

दक्षिण अमेरिका - कोलंबिया, चिली, ब्राजील, अर्जेंटीना जैसे बड़े देश इस महाद्वीप का हिस्सा हैं और विश्व के पटल पर ये चौथा बड़ा देश है | अगर आप छेत्रफल के अनुसार देखे तो इसका महाद्वीप के बड़े देश में ब्राजील का नाम पहले आता है | हाल के दिनों में कोरोना महामारी ने ब्राजील की सांख को हिला कर रख दिया है और आज वो भारत से वैक्सीन मिलने की उम्मीद पर बैठे हैं | 

भले ही ब्राजील बड़ा देश हो लेकिन वहाँ पर ऐसा लगता है की मेडिकल रिसर्च का आभाव सा है | इस महाद्वीप का सबसे छोटा देश फॉकलैण्ड है | दक्षिण अमेरिका के इस भूभाग का एक बड़ा हिस्सा जंगलो से घिरा है जो बहुत ही घने हैं |

अंटार्टिका - इस के बारे में तो आप सभी जानते ही होंगे की ये काफी समय बर्फ से ढका रहता है और यहाँ ठंड का बहुत प्रकोप रहता है | ये भूभाग अपने सालोभर के ठंढ के लिए जाना जाता है | आपको बता दे की ये विश्व का 5 वाँ बड़ा महाद्वीप है जिसका 99 प्रतिशत भाग बर्फ की चादर से ढका रहता है | 

यहाँ सघन जनसंख्या का अभाव है शायद ये यहाँ के ठंढे वातावरण के कारण हो | इसलिए यहाँ की जमीन का उपयोग सरकार ने न्यूक्लियर पवार स्टेशन खोलने के लिए किया है |इन सभी के अतिरिक्त इस महाद्वीप में उत्तरी अमेरिका, यूरोप, ऑस्ट्रेलिया आदि भी देश हैं जो सामरिक रूप से महत्वपूर्ण और खुबसूरत हैं | इनमे विद्यमान देशो में बहुत से खुबसूरत देश शामिल हैं जैसे - जर्मनी, इटली, नार्वे, स्विट्ज़रलैंड, इंग्लॅण्ड आदि हैं | 

कुछ देश तो प्राकृतिक रूप से इतने समृद्ध हैं की वहाँ पर रहने वाले वाशिंदों को सभी प्रकार की सुविधा उपलब्ध हो जा सकती है जो सामान्य जीवन के लिए आवश्यक है जैसे - शुद्ध हवा, पानी, उपजाऊ मिटटी, सूरज की रौशनी आदि | लेकिन कुछ देशो को प्राकृतिक चीजो को संभालना भी पड़ता है क्यों की उसकी वह कमी है जैसे - ऑस्ट्रेलिया, यहाँ पर पानी की कमी का सामना यहाँ के लोग करते हैं, जबकि ये पेड़-पौधो, मिनिरल्स और मवेशी संपन्न देश है |  

पांचवा प्रश्न

साइकिल का आविष्कार किसने किया था और कब किया था? (इतिहास) 

वैसे तो साइकिल लगभग सभी देशो में चलायी जाती है और शायद ये आम जानो की एक ऐसी सवारी थी जो बिना किसी अतिरिक्त खर्च के एक जगह से दूसरे जगह पर जाने की सुविधा उपलब्ध कराती थी | आज हमारे सामान्य जीवन में दूसरे वाहन का महत्वा बढ़ गया है और साइकिल ने किनारा पकड़ लिया है | लोग अब इसे अपने स्टेटस से जोड़ कर देखते हैं और इसे गरीब या निर्धन की सवारी मानते हैं | 

साइकिल चलाने के फायदे - जब आम जन दूसरे वाहन का उपयोग ज्यादा करने लगे जिन्हें चलने में मेहनत नहीं लगती है तो उसका विपरीत प्रभाव भी उनके स्वास्थ्य पर पड़ने लगा और उन्हें कई तरह की बीमारियों ने आ घेरा | उसके बाद लोगो को साइकिल की अहमियत का पता चला और बिना शौक के ही सही, लोगो ने सुबह और शाम में साइकिल चलाना स्वीकार किया, जिससे उनके स्वास्थ्य पर अच्छा प्रभाव पड़े |

आज के दौर में देखा में प्रदुषण एक बहुत बड़ी समस्या बन गयी है और ये सिर्फ किसी खास देश के लिए ही नहीं, बल्कि पुरे विश्व के लिए और भारत के साथ ही पूरा विश्व इसे लेकर चिंतित है और इस पर ग्लोबल समिट के द्वारा सभी देशो पर दबाव डाला जा रहा है की वे अपने यहाँ कार्बन उत्सर्जन वाले स्रोतों पर लगाम लगाये | 

प्रदुषण का सबसे बड़ा वाहक है पेट्रोल और डीजल से चलने वाली गाड़िया | इसलिए सभी देशो की सरकारे बैट्री चालित वाहन पर जोड़ दे रही है और लोकल लेवल पर साइकिल को अपनाने पर जोर दे रही हैं | कुछ देशो में तो cycle को किराये पर भी देने का प्रचलन चल पड़ा है |

साइकिल की खोज जर्मनी के आविष्कारक Karl Von Drais ने किया | आपको जानकर हैरानी होगी की साइकिल हमारे जीवन में बहुत पहले ही आ चूका था और वो साल था 1817 | Karl ने और भी बहुत से चीजो का आविष्कार किया था जिसमे साइकिल सबसे बेहतरीन अविष्कार थी |

वैसे आप को बता दे की जिस Cycle का आविष्कार किया गया था उसे रेल की पटरियों पर चलने के लिए बनाया गया था | हालांकि इसका एक दूसरा रूप आप आज भी देखते होंगे, जब रेल पटरियों का निरिक्षण करने के लिए रेल अधिकारी चार पहिया वाहन पर एक दो अधिकारी के साथ जाते हैं | उसी तरह से साइकिल को भी रेल पटरियों पर तेजी से चलने के लिए बनाया गया था | 

जब इस का उपयोग रेल पटरियों पर धरल्ले से होने लगा तो आम जन ने इसे अपने लिए भी इस्तेमाल करना शुरू किया और दो पहिये की सवारी आ गयी | आपको ये भी जानकर हैरानी होगी की वायुयान बनाने वाले राइट बंधुवो ने विमान की अविष्कार में आने वाले खर्च को निकलने के लिए साइकिल का ही सहारा लिया था | इन्होने साइकिल का निर्माण कर के उन्हें बेचा और पैसे का जुगाड़ किया |

आज भी विश्व की कंपनिया दुनिया की सबसे सस्ती साइकिल बनाने की होड़ में जुट गयी हैं क्यों की वो जानती हैं की आज नहीं तो कल बढ़ते प्रदुषण और सरकार की सख्ती के कारण लोगो को सस्ती साइकिल उपलब्ध करना होगो | कुछ कंपनी तो इलेक्ट्रिक साइकिल बनाने को लेकर भी आगे बढ़ चली हैं |

भारत में साइकिल को अंग्रेज ले कर आये थे और जिस समय में साइकिल को भारत में स्वीकारोक्ति मिली वो साल था 1942 | इसी साल साइकिल का निर्माण का कार्य शुरू किया गया और भारत की पहली Cycle निर्माता कंपनी थी Hind Cycle | जिसे मुंबई में स्थापित किया गया |

छठां प्रश्न

ऐसा कौन सा पक्षी है जो उड़ नहीं सकता उसका नाम बताओ?

बहुत से जानवर और पक्षी अपने प्राकृतिक संरचना के कारण लोगो के कौतुहल का विषय बन जाते हैं जैसे की आज हम ये जानने की कोशिश कर रहे हैं की कौन सा पक्षी उड़ नहीं सकता है | 

आपको ये जानकर हैरानी होगी की दुनिया में एक पक्षी ऐसा भी है जो दौड़ने में तो माहिर है और 70 किलोमीटर की रफ़्तार चुटकियो में पकड़ लेता है लेकिन उसके पंख होने के बावजूद वो उड़ नहीं सकता है, ये अफ्रीका में पाया जाता है | इसका नाम है ऑस्ट्रिच (शतुरमुर्ग) | इसकी शारीरिक बनावट पर कुछ कहा जाये तो इसकी गर्दन और पैर बहुत ही लम्बे होते हैं | ये अन्य पक्षियों के वनिस्पत बड़े अंडे देती है |

अब आते हैं दूसरे पक्षी पर | आपने पेंगुइन का नाम तो सुना ही होगा और कई बार किसी शोर्ट फिल्म में कौए के आकर के पक्षी को अपने निचे के पैरो पर चलते हुये भी देखा होगा | ये पक्षी अंटार्टिका द्वीप पर पाया जाता है दक्षिणी गोलार्ध का मूल निवासी होता है | ये ठंढी जगह पर रहने का आदि होता है और पानी में भी साथ मिनट तक मछली पकड़ने में माहिर होता है |

तीसरा पक्षी जो उड़ नहीं सकता, वो है ऐमू | ये ऑस्ट्रेलिया में पाया जाता है | इसकी लम्बाई बहुत अधिक होती है| अन्य पक्षियों से इसकी लम्बाई सामान्य से ज्यादा होती है | विशालकाय होने के साथ ही ये ऑस्ट्रेलिया का रास्ट्रीय पक्षी भी है | इसे ऑस्ट्रेलिया का उड़ान रहित पक्षी भी कहा जाता है | इसका वजन 30 से 40 किलो तक होता है, जो बहुत ही ज्यादा है और इसके आकार का आप अंदाजा इसी से लगा सकते हैं | इसकी लम्बाई 1.8 मीटर है और स्पीड 50 किलोमीटर/घंटा | 

चोथा पक्षी है 'गुआम रेल' | ये भी एक पक्षी है जो यूनाइटेड स्टेट के गुआम टेरिटरी में पाया जाता है और उड़ नहीं सकता है | आपको ये पक्षी साधारन्यतः देश के चिड़ियाघरो में देखने को मिल जाता है | ये एक लुप्तप्राय पक्षी की श्रेणी में आता है |

इन सबो के अतिरिक्त कुछ और पक्षी है जो इस श्रेणी में आते हैं जो हैं - दक्षिण द्वीप में पाए जाने वाला 'ताकाह', न्यूजीलैंड में पाया जाने वाला 'काकापो', बेका और किवी, अटलांटिक का फोल्कलैंड स्टीमर डक | इसके साथ ही एक पक्षी एकिडना भी उड़ने में लाचार है |

सातवां प्रश्न

ट्रेन का आविष्कार किसने किया था उसका नाम बताइए और कब किया?

ट्रेन भारत की सबसे लोकप्रिय और सस्ती सवारी है जो हमारे देश में एक जगह से दूसरी जगह पर जाने के लिए इस्तेमाल की जाती है | इसका उपयोग समाज के सभी वर्गो के लोग करते हैं चाहे वो गरीब हों या आमिर | ट्रेन के अविष्कारक ने भी ये नहीं सोचा होगा की आने वाले समय में ट्रेन यात्रा के लिए कितना बड़ा नेटवर्क हो जायेगा | 

जब ट्रेन का आविष्कार हुवा था तो उस समय इसे कोऐला जलाकर भाप से चलाया जाता था और आज ये इलेक्ट्रिक मोड में आ गया है, हो सकता है की आने वाले समय में ये किसी और स्रोत के मध्यम से पटरियों पर दौड़े|

पहले के लोग एक स्थान से दूसरे तक जाने के लिए घोड़े, हाथी आदि पशुवो का ही इस्तेमाल किया करते थे, क्योकि यही पुरातन काल से चला आ रहा था | कहा जाता है की आवश्यकता ही अविष्कार की जननी होती है, तो जब उनकी आवश्यकता बढ़ी और उन्हें सामान आदि ढोने में दिक्कतों का सामना करना पड़ा तो उन्होंने ट्रेन के बारे में सोचा |

ट्रेन को बनाने का मुख्य उद्देश्य कोऐले की ढुलाई कर के लोहे के कारखानों तक पहुँचाना था जिससे कारखाने का काम चलता रहे | इस कारण से स्टीम इंजन को बनाया गया, परन्तु वो कुछ खास चल नहीं पाया | 

ट्रेन का अविष्कार यात्रियों के साथ सामान ढोने के लिए सफलता पूर्वक जोर्ज स्टीफेंसन (George Stephenson) ने 27 सितम्बर 1885 को लोको-मोशन के नाम के साथ किया था | इस ब्रिटिश इंजिनियर द्वारा बनायी गयी ट्रेन की स्पीड 24 किलोमीटर प्रति घंटा थी | इस पर सबसे पहले 450 के करीब यात्रियों ने यात्रा की और वो यात्रा थी ब्रिटेन के डार्लिंगटन और स्टॉकटन के दरम्यान |

वैसे तो ट्रेन की यात्रा का अपना ही एक आनंद है और भारत में लोग अन्य संसाधनों में ट्रेन का ही उपयोग सबसे ज्यादा करते हैं | लम्बी दूरी की यात्रा का सबसे सुविधा जनक और आरामदायक यात्रा ट्रेन से ही संभव है | अब आप कहेंगे की प्लेन क्यों नहीं ? इसका जबाब है की प्लेन पर सफ़र करना आपके समय को जरुर बचायेगा, लेकिन इस पर आने वाला खर्च आपको बहुत ही रुलाएगा | 

ट्रेन की शुरुआत के बाद विश्व की सबसे पहली इंटर-सिटी ट्रेन का परिचालन 18 सितम्बर 1830 को हुवा था | इंटर-सिटी ट्रेन नाम भी बहुत अलग तरह का है शायद ये नाम कनेक्टिविटी को लेकर दिया गया हो | इंटर का मतलब हुवा आतंरिक और सिटी का मतलब शहर 'आतंरिक शहर को जोड़ने वाला' | ये सही कारण नहीं हो सकता है मैंने बस शब्दों का मतलब निकल कर बताया है | ये बात भी सही है की इंटर सिटी शब्द का प्रचालन आज भी रेलवे में विध्यमान है और इस नाम से ट्रेने चल रही हैं |

समय के साथ ही ट्रेन में भी बदलाव किये गए | पहले ये स्टीम इंजन के रूप में आया उसके बाद डीजल इंजन के साथ, फिर ये इलेक्ट्रोनिक मोड में हमारे सामने आया है और अब इसे बैटरी से चलने वाला बनाने की प्रक्रिया पर काम चल रहा है | ये बदलाव उर्जा के प्राकृतिक स्रोत को बचाने के साथ समय बचत को भी प्रोत्साहित करता है |

ट्रेन की स्पीड और टेक्नोलॉजी को सबसे ज्यादा और प्रभावी तरीके से बदलने वाला देश जापान है | इस देश ने 1964 में ही 164 किलोमीटर प्रति घंटा के रफ़्तार में अपनी ट्रेन को पंहुचा दिया था और पहली बार जापान के टोक्यो और ओसाका शहर की दूरी को पाटने में सफलता हासिल की थी | उसके बाद कई देशो ने अपनी ट्रेन व्यवस्था में सुधार किया | 

आपको एक और जानकारी दे दे की सबसे पहले भूमिगत रेलवे की परिकल्पना ब्रिटेन यानि लन्दन ने की और 1863 में 400 किलोमीटर लम्बाई की भूमिगत रेलवे बनायी |

विश्व के रेलवे में इतने बदलाव हो रहे थे लेकिन भारत भी इसमें पीछे नहीं रहा | भारत ने अपनी सबसे पहली ट्रेन को 1853 को महाराष्ट्र के बोरीबंदर और ठाणे के बीच दौड़ाई | इसमें स्टीम इंजन के साथ 14 डिब्बे जुड़े हुये थे और 400 के करीब लोगो ने इसमें यात्रा की थी | उस समय की इस छोटी सी शुरुआत के साथ ही भारत आज विश्व की चौथी सबसे बड़ी रेलवे नेटवर्क है और आपको ये जानकर हैरानी होगी की दुनिया का सबसे लम्बा प्लेटफार्म भारत के उत्तरप्रदेश राज्य के गोरखपुर डिस्ट्रिक्ट का है | 

आज भारत की सबसे बेहतरीन और गतिमान ट्रेन में 'वंदे भारत एक्सप्रेस' का नाम आता है, सरकार ये भी प्रयास कर रही है की रेलवे का इस तरह से आधुनिकीकरण किया जाये की देश को रेवेनियु भी मिले और यात्री को सुविधा भी |

आज भारत के ट्रेन के कांसेप्ट को बदलने का समय आ गया है और आज महसूस किया जा रहा है की अगर भारत को आर्थिक मोर्चो पर आगे बढ़ना है तो ट्रेडिशनल ट्रेन को बदल कर बुलेट ट्रेन की सोच पर काम करना होगा | आज आप जापान को देख ले वो तो काफी पहले से बुलेट ट्रेन का इस्तेमाल कर रहे हैं | वैसे आपको बता दे की बुलेट ट्रेन का आविष्कारक भी जापानी ही थे उनका नाम है हाइडो शीमा | ये जापान के रेलवे विभाग में चीफ रेलवे इंजिनियर थे और 1964 में ही बुलेट ट्रेन का अविष्कार कर देश को समर्पित कर दिया था | 

आँठवा प्रश्न

पृथ्वी का क्षेत्रफल कितना है यहाँ जानिये, Prithvi Ka Kshetrafal Kitna Hai?

पृथ्वी सौरमंडल का एक ऐसा ग्रह जो सभी सुविधावो से संपन्न है | यहाँ जीवन है और उसको जीने के लिए लोग भी हैं | आज पृथ्वी पर इतने लोग हो गए है की इसका भार बढता ही जा रहा है | सभी देश अपने यहाँ के जनसँख्या नियंत्रण कार्यक्रम को लगभग भूल चूका है और सिर्फ राजनीति कर रहा है | 

उन्हें इस बात की तनिक भी चिंता नहीं है की हमारी पृथ्वी पर भार बढता जा रहा है और उस बढे हुये जनसँख्या के भोजन की व्यवस्था पृथ्वी के निर्धारित क्षेत्रफल से ही करनी है | उस क्षेत्रफल का एक निश्चित प्रतिशत ही उपजाऊ है |

आज पूरा पृथ्वी का क्षेत्रफल की बात करे तो वो 510.1 मिलियन किलोमीटर2 है | इस क्षेत्रफल में ही कई देश अवस्थित हैं | अगर आप अन्य ग्रहों के क्षेत्रफल से पृथ्वी की तुलना करे तो आपको पता चलेगा की हमारे पृथ्वी का क्षेत्रफल उनकी तुलना में ज्यादा है जैसे - मंगल ग्रह का क्षेत्रफल 144.8 M Km2, वीनस (शुक्र) का क्षेत्रफल 460.2 M Km2 है और जुपिटर (वृहस्पति) का क्षेत्रफल सिर्फ 61.42 B Km2 है |

पृथ्वी के बारे में कुछ रोचक जानकारी प्रश्न और उत्तर के साथ 

नवां प्रश्न 

पृथ्वी पर सबसे बड़ा देश कौन सा है - रूस

दसवाँ प्रश्न

भारत का क्षेत्रफल विश्व का कितना प्रतिशत है - 2.4 प्रतिशत 

ग्यारहवा प्रश्न

पृथ्वी का व्यास कितना है - औसत व्यास 1272 किलोमीटर

बारहवाँ प्रश्न 

दुनिया का सबसे बड़ा देश जनसँख्या में - चीन

तेरहवाँ प्रश्न

वर्ल्ड में सबसे बड़ा क्षेत्रफल कौन से देश का है - रूस (17098242 किलोमीटर)

चौदहवां प्रश्न

पृथ्वी पर कितने प्रतिशत जमीन है - जमीन29% और जल 71% 

पंद्रहवाँ प्रश्न

पृथ्वी पर कितने प्रतिशत शुद्ध जल है - 3%

सोलहवाँ प्रश्न

भारत देश कब आजाद हुआ था किस सन में?

भारत देश की आजादी की अपनी एक कहानी है जो सुनने में तो बहुत अच्छी लगती है लेकिन उस दौर में देश को आजाद कराने के लिए जितनी परेशानियों का सामना करना पड़ा उन्हें याद करने पर रोंगटे खड़े हो जाते हैं उसका एक उदहारण है 'जलियाबाग़ वाला कांड' | आज की युवा पीढ़ी को ये जरुर समझाना और समझना चाहिए की आजादी हमें ऐसे ही नहीं मिली | 

आजादी के समय और अभी के समय में सिर्फ एक बात की समानता है और वो है की भारत के लोगो में भाईचारा आज भी कायम है सभी धर्मो के लोग एक दूसरे के लिए सम्मान रखते हैं और आदर का भाव रखते हैं | 

आज भी 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में और 15 अगस्त को भारत में स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया जाता है और राजपथ हो या लालकिला दोनों जगहों पर सभी तरह की झांकी निकाली जाती है जो लोगो के आकर्षण का केंद्र बनती है | यहाँ भी सर्वधर्म समभाव की भावना दिखती है जो आज के समय में बहुत ही आवश्यक है |

भारत देश 15 अगस्त 1947 को आजाद हुआ और देश से अंग्रेजो का शासन समाप्त हो गया | जब की 26 जनवरी 1950 में भारत के संविधान की नीव पड़ी | 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस क्यों मनाया जाता है? इस प्रश्न का जबाब है की इस दिन ही भारत के संविधान को आत्मसात किया गया था और भारत देश को एक गणतंत्र देश के साथ ही लोकतांत्रिक और संप्रभु देश का दर्जा मिला था | 

भारत के अंतिम वायसराय लार्ड माउंटबेटन थे जिन्होंने 15 अगस्त का दिन भारत की आजादी के लिए चुना था| भारत का स्वतंत्रता दिवस आज भी यहाँ के लोगो के लिए खास रहता है और सभी भारतवासी देश के शहीदों को याद करते हैं |

आज का भारत पहले के भारत से बिलकुल ही अलग है लेकिन सांस्कृतिक रूप से आज भी समानता देखी जा सकती है |

भारत के प्रथम स्वतंत्रता दिवस से संबंधित प्रश्न उत्तर

सत्रहवा प्रश्न

भारत के अलावा कितने देश 15 अगस्त को आजाद हुये थे - तीन देश (दक्षिण कोरिया, बहरीन, कांगो लोकतान्त्रिक गणराज्य)

अठरहँवा प्रश्न

भारत को अंग्रेजो से आजादी कब मिली - 200 साल के इन्तजार के बाद 15 अगस्त 1947 को 

उन्नीसवां प्रश्न

भारत में सबसे पहले कौन सा जिला आजाद हुआ था - यूपी का बलिया जिला जो 1942 में ही आजाद हो गया था |

बीसवां प्रश्न

भारत में कितने आंदोलन हुए? - दो आन्दोलन हुए थे, पहला अहिंसक और दूसरा क्रन्तिकारी

इक्कीसवां प्रश्न 

भारत को आजाद हुए कितने साल हुए 2021 तक - 74 साल 

बाईसवा प्रश्न

1949 में कौन आंदोलन हुआ? - भारत छोड़ो आंदोलन

तेइसवां प्रश्न

पहली बार स्वतंत्रता दिवस कब मनाया? - 26 जनवरी 1930

चौबीसवाँ प्रश्न

भारत छोड़ो आंदोलन का प्रस्ताव कब पास हुआ? - 8 अगस्त 1942 को मुंबई में 

पच्चीसवां प्रश्न

भारत से पहले आजाद होने वाला देश कौन - पाकिस्तान 14 अगस्त को 

छबीसवां प्रश्न

भारत के आस पास के देश कब हुए आजाद - भूटान 17 दिसम्बर 1907, इंडोनेशिया 17 अगस्त 1945, पाकिस्तान 14 अगस्त 1947, म्यांमार 4 जनवरी 1948, श्रीलंका 4 फ़रवरी 1948, चाइना 1 अक्टूबर 1949, मलेशिया 31 अगस्त 1957, बांग्लादेश 26 मार्च 1971, नेपाल 

सताईसवाँ प्रश्न

भारत को आजाद किये जाने की घोषणा किसने की - ब्रिटेन के तत्कालीन प्रधानमंत्री क्लेमेंट एटली ने 

अठाईसवाँ प्रश्न

इंडिपेंडेंस डे के दिन क्या हुआ था खास - 15 अगस्त के बाद 17 अगस्त को रेडक्लिफ लाईन का निर्माण भारत पाकिस्तान बॉर्डर के लिए किया गया |

उनतीसवां प्रश्न

चीन कब आजाद हुआ था - 1945 में जापान के पूरी तरह से सरेंडर के बाद चीन आजाद हुआ

तीसवाँ प्रश्न

अमेरिका कब आजाद हुआ था - 1776 से 1783 के बीच की अवधी को आजादी की अवधी माना जाता है 

अमेरिका की राजधानी क्या है बतावें?

अमेरिका का इतिहास बहुत ही पुराना है | ये देश हमेशा से लोगो के कौतुहल का विषय बना रहता है इस देश की आर्थिक समृद्धि ने आज इसे विश्व में एक शक्तिशाली देश के तौर पर खड़ा कर दिया है | 

विश्व के सभी देश इतना ही समृद्धशाली बनना चाहते हैं लेकिन वे ये बात भी जानते हैं की उनकी और अमेरिका की कार्यप्रणाली और छमता अलग अलग है | हर देश की अपनी एक संस्कृति होती है और उसके अपने कुछ दायरे होते हैं| उन देशो को उन्ही दायरों को ध्यान में रखकर अपने देश की अर्थवयवस्था को आगे ले जाना होता है |

इस देश की सबसे बड़ी खासियत इसका लोकतांत्रिक देश होना है, यहाँ पर भी चुनाव होता है और अमेरिकी लोगो द्वारा वहाँ की सरकार चुनी जाती है | इस देश का एलेक्ट्रोरल प्रोसेस बहुत ही सुदृढ़ और पुराना है | एक तरह से माना जाये तो ये भी कहा जा सकता है की अमेरिका में बनाने वाली सरकार का प्रभाव एशिया और यूरोप के देशो में भी देखने को मिलता है | इस देश को एक और नाम से भी जाना जाता है 'संयुक्त राज्य अमेरिका' |

अमेरिका का टूरिज्म सेक्टर भी बेहद खास है कई देशो के लोग इसे देखने के लिए पर्यटक के तौर पर जाते हैं और इस सेक्टर से अमेरिका की अर्थवयवस्था को जबरदस्त प्रगतिशीलता मिलती है | 

अमेरिका की राजधानी Washington, D.C. (वाशिंगटन डी. सी) है जो बेहद ही खुबसूरत है | हाल में वहाँ राष्ट्रपति का चुनाव हुआ है और नाम है Joseph Robinette Biden Jr. (जो बाइडेन) | 

अमेरिका के बारे में रोचक जानकारी की पूरी लिस्ट

  1. अमेरिका की मुद्रा - अमरीकन डॉलर ($) (‎USD‎)‎
  2. अमेरिका में कितने देश है? - 23 देश 
  3. अमेरिका को यूनाइटेड स्टेट क्यों कहा जाता है? - अमेरिका के यूनाइटेड कालोनियों के नाम की घोषणा में संयुक्त राज्य अमेरिका के नाम का उपयोग हुआ था |
  4. संयुक्त राज्य अमेरिका की स्थापना कब हुई? - 4 जुलाई 1976
  5. अमेरिका का पुराना नाम क्या था? - अमीरिगो वेसपुच्‍ची ने अमेरिका का नामकरण किया
  6. संयुक्त राष्ट्र अमेरिका में कितने देश हैं? - 1 देश हैं लेकिन इसमें 50 राज्य हैं 
  7. अमेरिका कौन से महाद्वीप में है? - संयुक्त राज्य अमरीका का उत्तरी महाद्वीप है
  8. अमेरिका के मूल निवासी कौन है? - उत्तर अमरीकी इंडियन हैं उत्तर और दक्षिण अमरीका के पुराने निवासी 
  9. अमेरिका कौन सी दिशा में स्थित है? - पृथ्वी के उत्तरी गोलार्ध में स्थित है
  10. उत्तरी अमेरिका महाद्वीप का क्षेत्रफल कितना है? - 24,710,000 km²
  11. उत्तरी अमेरिका की राजधानी - कनाडा की ओटावा, अमेरिका की वाशिंगटन डी. सी, मेक्सिको की मेक्सिको सिटी प्रमुख हैं 
  12. दक्षिण अमेरिका की राजधानी - अर्जेंटीना का ब्यूएनोस ऐरेस, ब्राज़िल का ब्राज़िलिया, चिली का सेंटिआगो, पेरू का लिमा
  13. अमेरिका का धर्म कौन सा है - ईसाई धर्म
  14. अमेरिका की खोज किसने और कब? - अमेरिका देश की खोज 1492 में क्रिस्‍टोफर कोलंबस ने किया था

आपको ये पोस्ट 'General Knowledge Questions And Answers In Hindi For Competitive Exams 2022-23' अगर अच्छी लगी हो तो सब्सक्राइब करें |

टिप्पणियाँ

Popular Post Of Website TNM

BA 2nd Year History 1&2 Most Important Questions 2022 In Hindi

BA 2nd Year Sociology 3&4 Important Questions 2022 In Hindi

BA 2nd Year Political Science Paper 2 Subsidiary Questions 2022 In Hindi

Bsc 2nd year Inorganic Chemistry Most important Questions 2022 In Hindi

Bsc 2nd Year Botany 1st Paper Important Question 2022 In Hindi