संक्रमण तत्व किसे कहते हैं ?, Zn, Cd व Hg को संक्रमण तत्व नहीं माना जाता

आज हम जानेंगे की संक्रमण तत्व किसे कहते हैं ?, Zn,Cd व Hg को संक्रमण तत्व नहीं माना जाता आखिर क्यों? इन प्रश्नों का उत्तर सिलसिलेवार तरीके से इस पोस्ट में दिया गया है, आशा है की आप को पसंद आयेंगे | इस पोस्ट में दी गयी जानकारियाँ इन्टरनेट पर भी उपलब्ध है, कुछ जानकारियों में बिना कोई बदलाव किये प्रेषित किया जा रहा है क्यों की वे उसी रूप में सही हैं |

संक्रमण तत्व किसे कहते हैं
संक्रमण तत्व 


संक्रमण तत्त्व किसे कहते हैं - What Is Transition Elements ?

इस प्रश्न का उत्तर बेहद सरल शब्दों में दिया जाये तो कहा जा सकता है परमाणु संख्या 21 से लेकर 30 तक, 39 से लेकर 48 तक, 57 से लेकर 80 तक और साथ ही 89 से लेकर 112 तक के रासायनिक तत्व को हम संक्रमण तत्त्व - Transition Elements कह सकते हैं | साधारन्यतः ये सभी एलिमेंट धातु की श्रेणी में आते हैं, इसलिए इन्हें संक्रमण धातु के रूप में भी जाना जाता है | 

Periodic table यानी आवर्त सारणी में I और d-ब्लॉक के एलिमेंट को जोड़ने वाले तत्व ही संक्रमण तत्व हैं | अगर परिभाषा की बात करें तो सीधे शब्दों में कहाँ जा सकता है की वे तत्व जिनका d या F- उपकक्षा आंशिक तौर पर भरे जाएँ, वे ही संक्रमण तत्व कहलाते हैं | उदहारण के तौर पर जस्तासमूह की संरचना d10 होने के कारण ये संक्रमण तत्व की श्रेणी में नहीं आता है | आपको ये भी जानकारी दे दें की संक्रमण तत्वों को 'डी-ब्लॉक' तत्व के तौर पर भी जाना जाता है | 

संक्रमण तत्व को इलेक्ट्रॉन विन्यास के अनुसार कितने भागों में बाटा गया है?

इसे दो भागों में विभाजित किया गया है 

  1. पहला संक्रमण तत्व - इसे मुख्य संक्रमण तत्व कहा जाता है इसका पहला संक्रमण तत्व स्कैंडियम है, उसका इलेक्ट्रॉन विन्यास {Ar}3d14s2 है | पीरियाडिक टेबल की माने तो डी-ब्लॉक के तत्वों में Zn,Cd व Hg को संक्रमण तत्व नहीं माना जाता लेकिन शेष सभी इस श्रेणी में आते हैं | आपको ये जानकारी दें दें की संक्रमण तत्वों के यौगिकों की एक विशेषता है की वे चमकीले रंग में होते हैं| पहले या 3d संक्रमण तत्व की श्रेणी में Sc से Cu तक आते हैं जबकि दुसरे या 4d में Y से लेकर Ag तक | उसी प्रकार तीसरे या 5d में La से Hf और Au तक और चौथे या 6d में A, Rf, Ha तक | 
  2. दूसरा संक्रमण तत्व आतंरिक संक्रमण तत्व कहलाता है - इनके इलेक्ट्रॉन विन्यास की बात करें तो वो (n-2)f¹–¹⁴(n-1)s² (n-1)p⁶(n-1)d⁰–¹ ns² b होता है | पीरियाडिक टेबल में इसे 6 आवर्त में La के बाद Ce से लेकर Lu तक इलेक्ट्रान 4f उपकक्षा तक भरा जाता है | इसे लैन्थेनाइड श्रेणी भी कहा जाता है |

Zn,Cd व Hg को संक्रमण तत्व नहीं माना जाता क्यों?

इसका कारण है की इनमें d-कक्षक पूर्ण रूप में भरे होते हैं और ये संक्रमण धातु के कुछ गुणों को नहीं दिखाते हैं, Zn,Cd व Hg और Cn का इलेक्ट्रॉनिक विन्यास सामान्यतः (n-1)d°ns सूत्र से दीखता है| 

इन तत्वों के कक्षक अपने मूल अवस्था और सामान्य ऑक्सीकरण की अवस्था में पूर्ण भारित होते हैं, इसलिए इन्हें संक्रमण तत्व की श्रेणी में नहीं गिना जाता है | वैसे आपको बता दें की संक्रमण धातुएं अतिकठोर और अल्प वाष्पशील होती हैं और इनके गलनांक के साथ क्वथनांक उच्च होते है, इनमे जिंक, कैडमियम और मर्क्युरी अपवाद की श्रेणी में आते हैं | 

आपको अगर ये जानकारी 'संक्रमण तत्व किसे कहते हैं ?, Zn,Cd व Hg को संक्रमण तत्व नहीं माना जाता' अच्छी लगी हो तो सब्सक्राइब करें |

टिप्पणियाँ

Popular Post Of Website TNM

BA 2nd Year History 1&2 Most Important Questions 2022 In Hindi

BA 2nd Year Sociology 3&4 Important Questions 2022 In Hindi

BA 2nd Year Political Science Paper 2 Subsidiary Questions 2022 In Hindi

Bsc 2nd year Inorganic Chemistry Most important Questions 2022 In Hindi

Bsc 2nd Year Botany 1st Paper Important Question 2022 In Hindi