संदेश

सितंबर, 2021 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

साम दाम दंड भेद का अर्थ क्या होता है विस्तार में बतायें

चित्र
आज हम बात करेंगे की साम दाम दंड भेद का अर्थ हिंदी में क्या होता है | ये पोस्ट मैं अपने अनुभव के आधार पर लिख रहा हूँ | बहुत सी बातें लीक से हट कर होंगी, ओ मेरे अपने विचार होंगे | इस पोस्ट में  Chanakya Neeti की भी बात की गयी है आशा है ये पोस्ट आपको पसंद आयेगी | साम दाम दंड भेद का अर्थ Saam Daam Dand Bhed Meaning In Hindi हिंदी में ये कहा जाता है की साम दाम दंड भेद का उपयोग तब करना चाहिए जब किसी बात की अति हो जाये | इसका मतलब है की अगर किसी व्यक्ति से कोई काम संपन्न कराना हो और वो जान कर आना कानी करे. जिससे आपको नुक्सान हो रहा हो तो उस पर साम दाम दंड भेद के कहावत को लागू करना चाहिए | अपना काम करवाने के लिए ये एक बेहतरीन चाणक्य नीति है | इस लोकोक्ति में ' साम ' का अर्थ है किसी काम के लिए सुझाव देना या किसी को कहना और ' दाम ' का अर्थ है की उस काम को करने के लिए मूल्य चुकाना, इसी की साथ ' दंड ' उस काम को नहीं करने पर दिए जाने के लिए लागू होता है| भेद की निति उस के रहस्यों पर चोट करने के लिए होती हैं | चाणक्य की ये निति लोग अपने बचाव के लिए भी उपयोग करते हैं और कुछ