Investment क्या है और Investment के तरीके क्या हैं

आपको इस पोस्ट में मैंने अपनी जानकारी के अनुसार बातो को रखा है और ये बताने की कोशिश की है की आखिर Investment क्या है और Investment के तरीके क्या हैं | मेरे जबाब शायद कुछ अलग हो सकते हैं ये मेरे अपने विचार हैं जिसको मैं आपके साथ साझा करने जा रहा हूँ |

जैसा की आप सभी जानतें हैं की कोरोना महामारी में अगर किसी ने सबसे ज्यादा परेशानी झेला है तो वो माध्यम वर्ग और रोज कमाने खाने वाले लोग थे | अभिजात्य यानि पैसे वालो ने अपनी जमा पूंजी के दम पर इस परेशानी को आराम से झेल लिए | इसलिए आज के समय इस बात की जानकारी बहुत ही जरुरी है की हम अपने पैसे को कैसे निवेश करे की विपरीत परिस्थितियों में हमें कठिनाइयों का सामना न करना पड़े | आज इस लेख के माध्यम से जानते हैं इन्वेस्टमेंट का मतलब |


निवेश क्या है और निवेश के तरीके क्या हैं
निवेश क्या है और निवेश के तरीके क्या हैं

Investment क्या है?

आज जानते हैं की निवेश क्या है ? निवेश उसे कहते हैं जो हमें कठिन परिस्थितियों का सामना करने की मजबूती देता है | एक अच्छा निवेश हमारे मनोबल को ऊँचा रखने में अहम् किरदार निभाता है | निवेश एक सुनियोजित तरीके से जमा की हुईं पूंजी होती है जो अपने प्रतिफल द्वारा आर्थिक संबल प्रदान करता है और आगे की आर्थिक, सामाजिक परिस्थितियों का सामना करने लायक बनाता है | Investment बड़े भी हो सकते हैं और छोटे भी| 

निवेश की परिभाषा के तौर पर हम जाने तो ये कह सकते हैं की निवेश वो है जिसमे हमारे द्वारा जमा की गयी पूंजी से एक समय के बाद हमें उससे ज्यादा पूंजी प्राप्त होती है | इस पूंजी से जो हम अर्जित करते हैं उसे ही हम रिटर्न कहते हैं | उदहारण के तौर पर, अगर कोई व्यक्ति एक कंपनी में 1 लाख रूपये निवेश करें और एक साल बाद 1 लाख 40 हज़ार पाए तो इसमें 40 हज़ार उसका रिटर्न कहलायेगा |

कितने तरह के रिटर्न होते हैं

साधारण रूप में रिटर्न 4 प्रकार के होते हैं पहला रिटर्न होता है अगर हम कही निवेश करते हैं और उसकी वैल्यू बढ़ जाती है तो उसे Capital Appreciation कहते हैं | दुसरे रिटर्न के तौर पर interest आता है जो हमारे जमा पूंजी पर बैंक या दूसरी संस्था देती है | 

तीसरा रिटर्न हमें कंपनी के शेयर को होल्ड करने पर डिविडेंट के रूप में प्राप्त होता है | चौथा रिटर्न रेंट के तौर पर हमें प्राप्त होता है जो रियल स्टेट के इन्वेस्टमेंट से जुड़ा होता है | ये चार तरीके ही हमें रिटर्न देते हैं | वैसे तो बाज़ार में बहुत से और भी तरीके हैं ब्याज कमाने के, लेकिन सभी इन चार जगहों से ही जुड़ें मिलेंगे |

अमीर बनने के लिए लक्ष्य बनायें

आप भी Investment के माध्यम से आमिर बन सकते हैं | अगर आप कोई बिज़नेस या नौकरी करते हैं तो आपको भी ये जानना होगा की निवेश कितने प्रकार के होते हैं और निवेश के उद्देश्य क्या हैं | आप अपने कमाई का कुछ हिस्सा बाज़ार में उपलब्ध कई तरह के निवेश के टूल्स का इस्तेमाल कर के जमा कर सकते हैं | 

इसके लिए अगर आपको किसी फाइनेंसियल एक्सपर्ट की भी राय, अगर जरुरी हो तो लेनी चाहिए | आप भी अमीर बनने के लिए लक्ष्य बनायें और पैसे को इस तरह से निवेश करे की आने वाले समय में जमा की हुईं पूंजी ही आपके लिए पूंजी का निर्माण करे | इन्वेस्टमेंट का मतलब यही होता है |

क्यों जरुरी है Investment

भविष्य को सुरक्षित रखने के साथ ही मुद्रास्फीति के हिसाब से पैसो का गुणात्मक विकास भी जरुरी है | इसे ऐसे समझे की अगर आप आज कोई वस्तु 100 रूपये में खरीद रहे हैं और 1 साल बाद उसका मूल्य महंगाई में बढ़ोतरी के हिसाब से 101 रूपये हो गया | आपको अगर इस को खरीदनी है तो आप 101 रूपये चुकायेंगे | 

अब आपने अपना 100 रूपया का निवेश 10% रिटर्न मिलने के लिए किया है तो आपके ऊपर बढे हुये मूल्य का कोई असर नहीं होगा, लेकिन अगर आप इस 100 रूपये को अपने पास ही रखे हैं तो 1 रूपये आपको अपने पास से देने पड़ेंगे | इसलिए आपको निवेश करने की जरुरत है | Inflation के हिसाब से income growth भी जरुरी है|

Investment के तरीके क्या हैं? और इन्वेस्टमेंट कहा करे?

आज के समय में निवेश के बहुत से सुरक्षित तरीके बाज़ार में उपलब्ध हैं | जैसे - गोल्ड, रियल स्टेट, बैंक एफडी, म्यूच्यूअल फण्ड और स्टॉक मार्केट | सबसे ज्यादा रिटर्न देने वाला इनमे से कौन हो सकता है इसका आकलन आप खुद करे | 

निम्न में से कौन निवेश का सबसे अच्छा साधन है ये बताना यहाँ थोडा मुश्किल है क्यों की परिस्थिति के हिसाब से return में उतार चढ़ाव होता रहता है | निचे दी गयी लिस्ट सबसे ज्यादा रिटर्न देने वाली स्कीम की है आप इनमे से कोई एक अपने लिए चुन सकते हैं | आज के समय के ये टॉप इन्वेस्टमेंट प्लान हैं |

गोल्ड - गोल्ड में निवेश भी हमें अच्छा रिटर्न दिला सकता है | अगर आपने 1979 में 1 लाख रूपये का निवेश गोल्ड में किया होता तो 2021 में उसकी वैल्यू करीब 43 लाख तक होती | गोल्ड की बात करे तो इन बीते हुयें सालो में गोल्ड ने 9.85 % के लगभग रिटर्न दिया है |

रियल स्टेट - अगर ऊपर दिया गया निवेश किसी ने रियल स्टेट सेक्टर में किया होता तो वो 1 करोड़ से ऊपर की रकम पाता | 

बैंक एफडी - आज की दौर में बैंक एफडी को सबसे सुरक्षित निवेश माना जाता है | इसमें ब्याज दर तो कम होती है लेकिन निवेशक इसे बहुत ही सिक्योर निवेश मानते हैं | 2021 में बैंक लम्बी अवधि के निवेश पर लगभग 5.60 % तक का लाभ दे रहा है |

म्यूच्यूअल फण्ड और स्टॉक मार्केट - इन दोनों में भी आज के समय में लोग निवेश कर रहे हैं म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश के द्वारा आप भी महंगाई दर को कण्ट्रोल कर सकते हैं क्योकि इसमें निवेशित धन बाज़ार के हिसाब से ही रिटर्न देता है | स्टॉक मार्केट भी इन्फ्लेशन के हिसाब से रिटर्न देता है लेकिन ये छोटे निवेशक के लिए थोडा रिस्की है | लेकिन mutual fund से पैसा दोगुना करने का तरीका सबसे सही और सबसे अच्छा निवेश का तरीका है|

स्टॉक मार्केट में निवेश के लिए किसी एक्सपर्ट की सलाह बहुत ही जरुरी है | ऊपर दिया गया अमाउंट अगर हमने शेयर मार्केट में निवेश किया होता तो उसकी वैल्यू आज के समय 3 करोड़ से ऊपर चली गयी होती | 1979 में सेंसेक्स की वैल्यू मात्र 100 थी और आज ये 50000 के ऊपर चली गयी है |

सकल निवेश व निवल निवेश क्या है | Difference of Gross Investment and Net Investment

सकल निवेश - स्थिर संपत्ति पर व्यय + माल सूचि निवेश पर व्यय

निवल निवेश - निवल आय या शुद्ध लाभ एक प्रकार का आय या लाभ होता है, जो किसी वस्तु को बेचने से विक्रय करने वाले को क्रय करने वाले व्यक्ति द्वारा दिया जाता है। इसमें विक्रय करने वाले के पुरे खर्च को कुल मिले हुए पैसों से घटाया जाता है तो यह आय मिलती है |

प्रेरित निवेश क्या है - प्रेरित निवेश उस निवेश को कहते हैं जो आय और लाभ के मात्रा पर निर्भर हो | प्रेरित निवेश आय और लाभ में हुयें परिवर्तनों से प्रेरित होता है और आय तथा लाभ की बढ़ोतरी पर ये बढ़ता है और घटने पर घट भी जाता है | 

विनिवेश क्या है - इसका जबाब बहुत ही साधारण है | इसे यो समझे की सार्वजनिक यानि पीएसयू उपक्रमों में सरकार द्वारा अपनी हिस्सेदारी बेचने की प्रक्रिया को विनिवेश कहा जाता है | इस तरह के विनिवेश के द्वारा सरकार पैसे जुटाती है |

विनियोग के विभिन्न प्रकार क्या है

पोर्टफोलियो निर्माण, निवेश विश्लेषण, निवेश नीति, प्रतिभूति मूल्यांकन ही विनियोग के प्रकार हैं |

निवेश गुणक क्या है - उम्र में बदलाव से निवेश में बदलाव के अनुपात को निवेश गुणक कहते हैं, निवेश गुणक को आय गुणक भी कहते हैं

निवेश फलन क्या है - निवेश फलन का अर्थ होता है शेयर मार्केट में स्टॉक की खरीद और बिक्री | निवेश फलन को विनियोग फलन भी कहा जाता है |

आज आपने इस पोस्ट के माध्यम से निवेश क्या है और निवेश के तरीके क्या हैं, निवेश का अर्थ और प्रकार को समझ लिया होगा | अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी हो तो सब्सक्राइब करें |

Tag: #निवेश

टिप्पणियाँ

Popular Post Of Website TNM

BA 2nd Year History 1&2 Most Important Questions 2022 In Hindi

BA 2nd Year Sociology 3&4 Important Questions 2022 In Hindi

BA 2nd Year Political Science Paper 2 Subsidiary Questions 2022 In Hindi

Bsc 2nd year Inorganic Chemistry Most important Questions 2022 In Hindi

Bsc 2nd Year Botany 1st Paper Important Question 2022 In Hindi