साइकिल का आविष्कार किसने किया था और कब किया था

आईये आज आपको बताते हैं की साइकिल का आविष्कार किसने किया था और कब किया था | वैसे तो साइकिल लगभग सभी देशो में चलायी जाती है और शायद ये आम जानो की एक ऐसी सवारी थी जो बिना किसी अतिरिक्त खर्च के एक जगह से दूसरे जगह पर जाने की सुविधा उपलब्ध कराती थी | 

आज हमारे सामान्य जीवन में दूसरे वाहन का महत्वा बढ़ गया है और साइकिल ने किनारा पकड़ लिया है | लोग अब इसे अपने स्टेटस से जोड़ कर देखते हैं और इसे गरीब या निर्धन की सवारी मानते हैं | 


साइकिल का आविष्कार किसने किया
साइकिल का आविष्कार किसने किया था और कब किया था

साइकिल चलाने के फायदे

जब आम जन दूसरे वाहन का उपयोग ज्यादा करने लगे जिन्हें चलने में मेहनत नहीं लगती है तो उसका विपरीत प्रभाव भी उनके स्वास्थ्य पर पड़ने लगा और उन्हें कई तरह की बीमारियों ने आ घेरा | उसके बाद लोगो को साइकिल की अहमियत का पता चला और बिना शौक के ही सही, लोगो ने सुबह और शाम में साइकिल चलाना स्वीकार किया, जिससे उनके स्वास्थ्य पर अच्छा प्रभाव पड़े |

आज के दौर में देखा में प्रदुषण एक बहुत बड़ी समस्या बन गयी है और ये सिर्फ किसी खास देश के लिए ही नहीं, बल्कि पुरे विश्व के लिए और भारत के साथ ही पूरा विश्व इसे लेकर चिंतित है और इस पर ग्लोबल समिट के द्वारा सभी देशो पर दबाव डाला जा रहा है की वे अपने यहाँ कार्बन उत्सर्जन वाले स्रोतों पर लगाम लगाये | 

प्रदुषण का सबसे बड़ा वाहक है पेट्रोल और डीजल से चलने वाली गाड़िया | इसलिए सभी देशो की सरकारे बैट्री चालित वाहन पर जोड़ दे रही है और लोकल लेवल पर साइकिल को अपनाने पर जोर दे रही हैं | कुछ देशो में तो cycle को किराये पर भी देने का प्रचलन चल पड़ा है |


साइकिल चलाने के फायदे
साइकिल चलाने के फायदे

साइकिल का आविष्कार किसने किया था और कब किया था ?

साइकिल की खोज जर्मनी के आविष्कारक Karl Von Drais ने किया | आपको जानकर हैरानी होगी की साइकिल हमारे जीवन में बहुत पहले ही आ चूका था और वो साल था 1817 | Karl ने और भी बहुत से चीजो का आविष्कार किया था जिसमे साइकिल सबसे बेहतरीन अविष्कार थी |


Karl Von Drais
साइकिल की खोज जर्मनी के आविष्कारक Karl Von Drais

वैसे आप को बता दे की जिस साइकिल का आविष्कार किया गया था उसे रेल की पटरियों पर चलने के लिए बनाया गया था | हालांकि इसका एक दूसरा रूप आप आज भी देखते होंगे, जब रेल पटरियों का निरिक्षण करने के लिए रेल अधिकारी चार पहिया वाहन पर एक दो अधिकारी के साथ जाते हैं | उसी तरह से साइकिल को भी रेल पटरियों पर तेजी से चलने के लिए बनाया गया था | 

जब इस का उपयोग रेल पटरियों पर धरल्ले से होने लगा तो आम जन ने इसे अपने लिए भी इस्तेमाल करना शुरू किया और दो पहिये की सवारी आ गयी | आपको ये भी जानकर हैरानी होगी की वायुयान बनाने वाले राइट बंधुवो ने विमान की अविष्कार में आने वाले खर्च को निकलने के लिए साइकिल का ही सहारा लिया था | इन्होने साइकिल का निर्माण कर के उन्हें बेचा और पैसे का जुगाड़ किया |


रेल की पटरी पर चलने वाली रेल साइकिल
रेल की पटरी पर चलने वाली रेल साइकिल

आज भी विश्व की कंपनिया दुनिया की सबसे सस्ती साइकिल बनाने की होड़ में जुट गयी हैं क्यों की वो जानती हैं की आज नहीं तो कल बढ़ते प्रदुषण और सरकार की सख्ती के कारण लोगो को सस्ती साइकिल उपलब्ध करना होगो | कुछ कंपनी तो इलेक्ट्रिक साइकिल बनाने को लेकर भी आगे बढ़ चली हैं |

भारत में साइकिल को अंग्रेज ले कर आये थे और जिस समय में साइकिल को भारत में स्वीकारोक्ति मिली वो साल था 1942 | इसी साल साइकिल का निर्माण का कार्य शुरू किया गया और भारत की पहली साइकिल निर्माता कंपनी थी Hind Cycle | जिसे मुंबई में स्थापित किया गया |

अब आपको ये पता चल गया होगा की साइकिल का आविष्कार किसने किया था और कब किया था | अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई हो तो कमेंट करे और सब्सक्राइब करे |

इन्हें भी पढ़े 

ट्रेन का आविष्कार किसने किया था उसका नाम बताइए

क्या आप जानते हैं ये रोचक तथ्य Taj Mahal के बारे में

विश्व अस्थमा दिवस क्यों मनाया जाता है

सीआईडी एवं सीबीआई क्या है? CID एवं CBI में अंतर जानिए

अजवाइन खाने के फायदे और नुकसान बताइए

क्या हैं गिलोय के फायेदे नुकसान और औषधीय गुण 

दही में नमक मिलाने से क्या होता है

टिप्पणियां

इन्हें भी पढ़े

दशहरा क्यों मनाया जाता है बताओ

Jijaji Chhat Par Hai के दूसरे सीजन के साथ हिबा नवाब की वापसी

महाभारत का युद्ध कितने दिन चला था बताएं

हिन्दू धर्म कितना पुराना है ?

सबसे अच्छी कौन सी किताब है GK Quiz के लिए बताये