Laxman Sivaramakrishnan: लक्ष्मण शिवरामकृष्णन कौन हैं

क्या आप Laxman Sivaramakrishnan को जानते हैं, अगर नहीं तो आज जानेंगे की लक्ष्मण शिवरामकृष्णन कौन हैं और इनकी प्रसिद्धि किस फिल्ड से है| 

आपको बता दे की Laxman Sivaramakrishnan का जन्म 31 दिसम्बर 1965 में हुवा था और ये शिवा के नाम से प्रसिद्ध हैं| ये भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी हैं और राईट आर्म लेग स्पिनर हैं| Laxman Sivaramakrishnan ने अपना नया कैरिएर कमेंटेटर के तौर पर शुरू किया और इनका यह कैरिएर भारत और बांग्लादेश के मैच के दौरान शुरू हुवा| भारतीय क्रिकेट के ये जबरदस्त खिलाड़ी (Indian Cricket Player) थे और कमेन्ट्री करने में भी इनका कोई सानी नहीं था|


Laxman Sivaramakrishnan, laxman sivaramakrishnan commentary
Laxman Sivaramakrishnan: लक्ष्मण शिवरामकृष्णन


Laxman Sivaramakrishnan (लक्ष्मण शिवरामकृष्णन) ने सबसे पहले 12 साल की उम्र में 7 विकेट चटकाए और लोगो की नजरो में आ गए| ये काम उन्होंने मद्रास इंटर स्कूल चम्पिंशिप में किया| 15 वर्ष की उम्र में ये अंडर 19 के सबसे नौजवान खिलाड़ी थे| 

साथ ही फर्स्ट क्लास क्रिकेट 16 साल की उम्र में स्टार्ट किया और प्रसिद्धि पाई| अपने अच्छे परफॉरमेंस के कारण दिलीप ट्रोफी के लिए खेलने के लिए चयन किया गया| इस खेल के सेकंड इनिंग में 5 विकेट चटकाये| इसमें प्रशिद्ध खिलाड़ी सुनील गावस्कर का विकेट भी शामिल था|

Laxman Sivaramakrishnan को 1982/1983 में पाकिस्तान क्रिकेट टीम के खिलाफ खेलने के लिए नोटिस किया गया| उसके बाद वेस्ट इंडीज के लिए भी चुना गया| Laxman भारत की तरफ से टेस्ट क्रिकेट खेलने वाला सबसे यंग खिलाड़ी थे| 

Laxman Sivaramakrishnan ने विकेट लेने के लिए सबसे पहले ग्रैमी फाउलर को अपना शिकार बनाया| वर्ल्ड चम्पिंशिप में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेलते हुये सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले खिलाड़ी में इनका नाम आया| जिस समय ये क्रिकेट में सक्रिय थे उस समय वन डे क्रिकेट में स्पिनर का बहुत ही महत्वा था और लेग स्पिनर का तो बहुत ज्यादा| 

Laxman Sivaramakrishnan का टेस्ट क्रिकेट कैरिएर ऑस्ट्रेलिया और श्रीलंका के साथ मैच खेलने के साथ ही समाप्त हो गया| लेकिन इन्होने 1987 के वर्ल्ड कप मैच से फिर से क्रिकेट में वापसी की| साथ ही भारतीय क्रिकेट के लिए एक महत्वपूर्ण पारी खेली| 

इस वर्ल्ड कप में Laxman ने सिर्फ एक विकेट चटकाए और वो भी जिम्बाब्वे के खिलाफ| बाद में Laxman Sivaramakrishnan ने अपने कैरिएर को आगे बढाने के लिए बोल्लिंग से बैटिंग में कन्वर्ट कर दिया और फर्स्ट क्लास क्रिकेट अगले 10 सालो तक खेलते रहे| 

भारतीय क्रिकेट टीम के बॉलर वेंकटेश प्रसाद (Venkatesh Prasad) के जैसा ही सर-नेम Laxman ने भी रखा और अपने नाम के पहले L लगाया| वैसे भी साउथ में लम्बे नाम का प्रचलन होता है और इसी को Shivaramakrishnan ने भी अपनाया|

आज आपको Laxman Sivaramakrishnan के बारे में बहुत कुछ पता चला होगो| आपको ये पोस्ट कैसा लगा कमेंट कर के बताये और सब्सक्राइब करे|

इन्हें भी पढ़े 

5 मनोरंजक इंस्टाग्राम अकाउंट को जाने

रिलेशनशिप में रहने से पहले प्यार में इन बातो का रखे ध्यान

Live Streaming Instagram में शामिल होने के आसान से तरीके को जाने

फेसबुक मैसेंजर से लॉग आउट में आ रही समस्या का निवारण जाने यहाँ

Whatsapp Auto Reply सेट करने का पूरा तरीका जाने यहाँ

टिप्पणियां

इन्हें भी पढ़े

ये रिश्ता क्या कहलाता है में करण कुंद्रा की एंट्री के फर्स्ट-लूक मे क्या है खास

एलन मस्क टेस्ला में 10 हज़ार लोगों को रोजगार देंगे, डिग्री जरुरी नहीं