आपके फ़ोन में सबसे ज्यादा वायरस कहाँ से आता है? अलर्ट रहें उससे

ये बात जानना स्मार्टफोन यूज़र को जानना बहुत ही जरुरी है की उसके फोन में कहाँ कहाँ से वायरस आ रहा है| वायरस को लेकर यूजर की चिंता जायज है और फ़ोन युजर या कंप्यूटर युजेर इस बात को लेकर चिंतित रहते भी हैं क्योकि ये उनके फ़ोन के डाटा की सुरक्षा से जुड़ा हुआ है| 

असल में यूज़र ये ही समझते हैं की वे जो भी ऐप या टूल्स को अपने फ़ोन के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं वो सभी सुरक्षित हैं और जरुरी गाइड लाइन का पालन कर रहे होंगे| क्योकि ये सभी टूल्स उन्हें ऑनलाइन ही उपलब्ध होते हैं या वो डाउनलोड करते हैं| बहुत से युजर तो एंटीवायरस का इस्तेमाल भी नहीं करते|

इन सब के बावजूद उन्हें इस बात की जानकारी नहीं होती है की उस टूल्स को उपलब्ध कराने वाल प्लेटफार्म भी तो फ़ोन में वायरस को ट्रान्सफर कर सकता है| लोग तो अपने हिसाब से वही फ़ोन खरीदते हैं जो यूजर के लिए बेस्ट स्मार्टफोन हो और उन्हें ऑपरेट करने में दिक्कत न आये और बेस्ट बजट स्मार्टफोन उनके लिए (Best Budget Smartphone) हो|

आज हम इस पोस्ट के द्वारा ये बताने का प्रयास करने जा रहे हैं की वायरस के कौन से ऐसे स्रोत हैं, जो वायरस को आपके फ़ोन में ट्रान्सफर करने में सहायक सिद्ध हो रहे हैं और आपको पता भी नहीं चल पा रहा है और आप धर्रले से उसका यूज किये जा रहे हैं| 


वायरस,android app, smartphone
आपके फ़ोन में सबसे ज्यादा वायरस कहाँ से आता है?


आपने गूगल प्ले स्टोर का नाम तो सुना ही होगा और ये भी पता होगा की इस प्लेटफार्म का इस्तेमाल युजर क्यों करता है| 

अगर आप इसकी जानकारी नहीं रखते हैं तो बता देते हैं की ये गूगल प्ले स्टोर ऐप को पब्लिश करने का एक बेहतरीन प्लेटफार्म है और युजर इस प्लेटफार्म से अपने पसंद का ऐप डाउनलोड करते हैं| 

सामान्यतः युजर इस का इस्तेमाल अपने स्मार्टफोन में एप्लीकेशन को डाउनलोड करने के लिए करते हैं, साथ ही युजर को यहाँ से उस ऐप या एप्लीकेशन के रेटिंग और फीचर का भी पता चलता है|

ऐसा देखा गया है की साइबर सिक्यूरिटी एजेंसी इस प्लेटफार्म को सबसे सुरक्षित मानता है स्मार्टफोन में ऐप को डाउनलोड करने के लिए और इसे प्राथमिकता के तौर पर देखता है| एजेंसी लोगो को सुझाव भी देता है की ये प्लेटफार्म उनके लिए सभी तरह से वायरस प्रोटेक्टेड है और युजर को कही और से ऐप डाउनलोड नहीं करना है| 

अब आपको ये जानकर हैरानी होगी की आपके स्मार्टफोन को सबसे ज्यादा को हानि पहुचता है तो वो है गूगल प्ले स्टोर| ये वायरस या मैलवेयर का बहुत ज्यादा प्रतिशत ट्रान्सफर करता हैं| 

ये चौकाने वाले तथ्य एक सर्वे के दौरान सामने आये| जिसे 'नॉर्टन लाइफ लॉकऔर 'आईएमडीईऐ ने किया था| ये एक सॉफ्टवेयर कंपनी है और इन दोनों ने अपने रिपोर्ट में इस बात का खुलासा किया| इन्होने जो रिपोर्ट दिया है उसके अनुसार 67.2% इस तरह के सॉफ्टवेयर हैं जिनको फोन में इन्स्तेमाल करेने के लिए डाउनलोड किया जाता है और बड़ी मात्रा में वायरस उनमे मौजूद रहता है| 

इस सभी ऐप को प्ले स्टोर से ही फोन में डाउनलोड किया जाता है| ये बाते इस आर्गेनाइजेशन ने अपने रिपोर्ट में बताई हैं| इन आर्गेनाइजेशन का दावा है कि उन्होंने ये रिपोर्ट गहन अध्धयन के बाद बनाया है और इसमें उनलोगों ने 7.9 मिलियन ऐप के साथ 12 मिलियन एंड्राइड उपकरण का विस्तृत अध्धयन किया गया है| 

उन लोगो ने इस रिपोर्ट को बनाने में जल्दबाजी नहीं की और अच्छा समय दिया इस अध्धयन के दौरान| 

इस अध्धयन में से ये भी पता चला है की मैक्सिमम डाउनलोड गूगल प्ले स्टोर से ही होता है| अगर आप इस आर्गेनाइजेशन के रिपोर्ट को सही समझे तो रिपोर्ट के मुताबिक 10.4 प्रतिशत एंड्राइड फोन में वायरस इसी प्लेटफार्म से पहुचते हैं| 

आपको ये बता दे की इस आर्गेनाइजेशन के डाटा पर इस लिए संदेह नहीं किया जा सकता है क्योकि इस रिपोर्ट को तैयार करने में अल्टरनेटिव मार्केट, मेसेज, वेब ब्राउज़र जैसे स्रोतों का इस्तेमाल किया गया है और सही रिपोर्ट बनाने में जबरदस्त मेहनत की गयी है| 

इस संस्थान ने ये भी बताया है की लगभग 87 प्रतिशत ऐप को गूगल प्ले स्टोर से ही युजर डाउनलोड करता हैं अपने फ़ोन में| उनके हिसाब से थर्ड पार्टी के रूप में यही प्लेटफार्म सुरक्षित है उनके फ़ोन के लिए| इसलिए फ़ोन यूज़र और कही से भी डाउनलोड करने में हिचकता है| 

एक बात और है की ज्यादा से ज्यादा लोग ऐप को पब्लिश करने के लिए प्ले स्टोर का सहारा लेते हैं और ये प्लेटफार्म वायरस फ़ैलाने वाले ऐप को शायद ट्रैक नहीं कर पाता है| इसमें इस प्लेटफार्म की लचर पालिसी सामने आती है| उसे ठीक करने की जरुरत है|

आपको ये जानकारी अच्छी लगी तो सब्सक्राइब करे और कमेंट करे|

इन्हें भी पढ़े

एप्पल आईफ़ोन 12 और आईफ़ोन 12 प्रो में क्या है खास और मूल्य

विवो का कौन सा नया मोबाइल लांच होगा ट्रिपल रियर कैमरा के साथ

ग्राहक को आकर्षित करने के उपाय जो व्यापार में उन्नति लाये

रिलायंस जिओ 4जी फ़ोन की कीमत में अच्छी वृद्धि की है

जाने उन एंड्राइड ऐप के बारे में जो हानिकारक हैं फोन के डाटा के लिए

भारतीय रेलवे से कैसे पता करे की टिकेट कन्फर्म है की नहीं 

ओटीपी का मतलब क्या होता है बताये  

टिप्पणियां

इन्हें भी पढ़े

ये रिश्ता क्या कहलाता है में करण कुंद्रा की एंट्री के फर्स्ट-लूक मे क्या है खास

एलन मस्क टेस्ला में 10 हज़ार लोगों को रोजगार देंगे, डिग्री जरुरी नहीं